वाराणसी, जेएनएन। पिछले सप्ताह से ही भीषण गर्मी की मार झेल रहे लोगों को बुधवार की शाम तेज हवा के साथ हुई बूंदाबांदी से थोड़ी राहत मिली। राहत को भी कई स्थानों पर हल्की बरसात हुई। इससे पहले दिनभर लोगों को आसमान से बरसती लू एवं धरती की ताप झेलनी पड़ी। हालांकि पश्चिमी विक्षोभ के कारण पूर्वांचल में भी मौसम ने करवट ले ली है। इससे गुरुवार को ही बारिश की संभावना बढ़ गई है।

लगातार बढ़ रही गर्मी के कारण मंगलवार को अधिकतम तापमान 46.0 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया था। इससे पहले सबसे अधिक पारा 1998 में 46.8 डिग्री तक पहुंचा था। हालांकि मंगलवार की शाम को हही पंजाब, राजस्थान व जम्मू-कश्मीर से आ रही उत्तर-पश्चिमी हवा से हुई लोकल हीटिंग के कारण मौसम में बदलाव हो गया था। आंधी हुई था और बूंदाबूंदी भी हुई थी। प्रसिद्ध मौसम विज्ञानी प्रो. एसएन पांडेय ने बताया कि जम्मू-कश्मीर व दिल्ली में एक पश्चिमी विक्षोभ पूर्वांचल में आ गया है। इसके कारण कई क्षेत्रों में बारिश भी हुई। बताया कि गुरुवार को बनारस में भी ठीक-ठाक बारिश की संभावना है।

वाराणसी में तापमान

44.6 डिग्री सेल्सियस अधिकतम तापमान

29.5 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान

मई माह में सबसे अधिक गर्मी

अधिकतम पारा   वर्ष

46.8            1998

46.0            2020

45.8            2020

44.6            2020

44.6            2019

44.6            2018

44.6            2017

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस