वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मानसून के दस्‍तक देने के साथ ही अब गर्मी का असर तो कम हुआ मगर उमस बढ़ने से लोग पसीना- पसीना होने लगे हैं। दूसरी ओर बिजली कटौती से अब और भी समस्‍या सिर उठाने लगी है। मंगलवार की सुबह आसमान पर बादलों की आवाजाही शुरु हुई तो थोड़ी देर बाद बादल छंट गए और अासमान से सूरज की तल्‍खी शुरु हो गई। दोपहर होते-होते आसमान में हल्‍की बदली तो हुई मगर धूप का असर फ‍िर भी बरकरार रहा।

मौसम विज्ञानियों के अनुसार पूर्वांचल में मानसून आ चुका है और अनुकूल मौसम होने के बाद बारिश भी हो रही है। मानसूनी परिस्थितियां बनी हुई हैं और बादलों की सक्रियता भी रहरह कर हो रही है। वहीं बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 38.2 डिग्री और न्यूनतम तापमान 30 डिग्री दर्ज किया गया। जबकि इस दौरान अधिकतम आर्द्रता 62 फीसद और न्‍यूनतम आर्द्रता 46 फीसद दर्ज किया गया। न्‍यूनतम पारा सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक बढने की वजह से सुबह और शाम को गर्मी के स्‍तर में भी बढोतरी दर्ज की जा रही है। 

मानसून की सक्रियता की वजह से किसान भी खेतों की ओर रुख कर रहे हैं। तैयार हो चुके धान के बेहन भी अब खेतों में रोपे जा रहे हैं। वहीं निचले इलाके के खेतों में किसानों ने खरीफ की फसल या तो बो दी है या बोने की तैयारी में हैं।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Sharma