वाराणसी, जेएनएन। हर दिन बदलते मौसम के रंग का असर मंगलवार को भी दिखा और सुबह आसमान में बादलों की आवाजाही के बीच कोहरे का भी असर रहा। सुबह से ही ठंडी हवाआें का रुख रहा और कोहरा दिन चढ़ने के साथ ही खत्‍म भी हो गया। आठ बजे के बाद सूरज की पर्याप्‍त रोशनी भी शहर और गांव तक पहुंचने लगी। इसी के साथ मौसम थोड़ा गर्म भी हुआ और उमस में मामूली इजाफा भी देखा गया। 

मौसम विभाग की अोर से जारी सप्‍ताह भर की रिपोर्ट के अनुसार इसी सप्‍ताह न्‍यूनतम पारा बीस और अधिक‍तम पारा तीस डिग्री से कम रह सकता है। हालांकि अधिकतम पारा इसी सप्‍ताह तीस डिग्री के नीचे आ चुका है। अब मौसम काफी हद तक साफ होने के बाद उम्‍मीद है कि तापमान में गिरावट के साथ ही कोहरा भी और सघन होने लगेगा। मौसम विज्ञानियों के अनुसार तीन दिनों तक बादलों की सक्रियता के बाद अब मौसम साफ होने के साथ ही ओस और कोहरे का दौर पूर्वांचल में शुरू होगा। इसी के साथ ही पूर्वांचल में गुलाबी जाड़े की विदायी के साथ ही मुकम्‍मल ठंड का आगमन हो जाएगा।

खेतों में दो दिन रह रहकर हुई बारिश से जहां धान की पिछेती खेती को फायदा मिलेगा वहीं अगेती फसल को मामूली नुकसान भी हुआ है। वहीं दूसरी ओर सब्जियों की खेती के‍ लिए यह बारिश राहत लेकर आई है और अब मौसम साफ होने के साथ ही खेतों में फसल भी समय से तैयार होगी, उसके लिए तापमान अब पूर्वांचल में अनुकूल हो गया है।

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 29 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री कम था, न्‍यूनतम तापमान 22.2 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक था। वहीं इस दौरान 0.3 मिमी बारिश भी दर्ज की गई। जबकि आर्द्रता अधिकतम 87 और न्‍यूनतम 80 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में बादलों की मामूली सक्रियता बनी हुर्इ है जो आगे भी बनी रह सकती है।

ठंड से पहले आसमान में बादलों व धुंध का डेरा

काशी सहित पूरे पूर्वांचल लगातार तीसरे दिन सोमवार को भी बादल एवं धुंध के साये में रहा। बादल एवं धुंध दो दिन में छंटने की उम्मीद है। अरब सागर से लगातार नमी आ रही है। इसके कारण जमीन से डेढ़ किलोमीटर ऊपर तक पुरवा हवा चल रही। सुबह-शाम धुंध का भी असर रहा। सोमवार को दिन सूर्य का दर्शन कुछ ही देर के लिए हो सका। प्रसिद्ध मौसम विज्ञानी प्रो. एसएन पांडेय ने बताया कि नीचे पुरवाई और ऊपर पछुआ हवा चल रही है। इसके कारण बंगाल की खाड़ी से साइक्लोनिक सर्कुलेशन बना हुआ है। यही वजह है कि पूर्वांचल के साथ मध्य प्रदेश एवं बिहार के भी कुछ इलाकों में हल्की बारिश के साथ आसमान में बादल छाए हुए हैं। बताया कि यह स्थिति और एक-दो दिन बनी रहेगी। 

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप