आजमगढ़, जेएनएन। पूर्वांचल में लगातार हो रही बरसात के बाद नदी और नाले सभी उफान पर हैं। सरयू नदी में पानी भी बारिश के दौरान बढ़ने लगा था। अब शनिवार की दोपहर बाद सरयू नदी में दो सेंटीमीटर की कमी दर्ज की गई है। जबकि आजमगढ़ जिले के बगहवा और गागेपुर मठिया में कटान जारी रहने से कई गांव और संपर्क मार्गों पर बाढ़ का पानी जमा है। बाढ़ का पानी उतार चढ़ाव पर बना हुआ है। अब दोबारा नदी का पानी घटने लगा है, दूसरी ओर घट रहा पानी अब नदी के तटवर्ती इलाकों में कटान कर रहा है।  

गुरुवार को हुई मूसलधार बारिश के चलते दो दिन से उफन रही सरयू नदी का जलस्तर घटने लगा है। बगहवा और गागेपुर मठिया में कटान तेज हो गई है। महुला बांध के उत्तरी भाग के गांव अचल नगर, वासु का पूरा, सेमरी बगहवा अभनपट्टी सहित दर्जनों गांव पानी से घिरे हुए हैं। जिससे आवागमन में काफी दिक्कत हो रही है। बाढ़ के पानी से बगहवा,सेमरी और मल्लाह का पुरवा में भी कटान शुरू हो गई है। गागेपुर मठिया और परसिया रिंग बांध तो पहले ही अति संवेदनशील है। किसानों की कट रही जमीन और बर्बाद हो रही खड़ी फसल के बारे में किसी को तनिक भी चिंता नहीं है। इसकी वजह से खेती भी प्रभावित हो रही है।

गांव में पशुओं के चारा की समस्या बढ़ती ही जा रही है। सर्दी, जुखाम, बुखार ने पांव पसारना शुरू कर दिया है। इन बीमारियों से देवारा के लोग पीड़ित हो रहे हैं। बांध पर स्थापित चौकियों पर स्वास्थ्य कर्मियों की उपस्थिति ना होने से देवारा के लोगों को मामूली दवाएं भी उपलब्ध नहीं हो पा रही। शुक्रवार को नदी का जलस्तर डिघिया नाले पर 71.07 मीटर शनिवार को 70.02 मीटर पर पहुंच गया है। बदरहुआ नाले पर शुक्रवार को जलस्तर 71.86 मीटर था, जो घटकर शनिवार को 71.84 मीटर पर पहुंच गया।

Edited By: Abhishek Sharma