वाराणसी (जेएनएन)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की दो दिवसीय पूर्वांचल यात्रा की कमान बुधवार को खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने हाथों में ली। लखनऊ से पहुंचकर आजमगढ़, बनारस और मीरजापुर में होने वाली रैलियों के स्थल का जायजा लिया। अफसरों के साथ बैठक कर सख्त निर्देश दिया कि पीएम के कार्यक्रम की तैयारियों में किसी भी तरह की लापरवाही न होने पाए, न ही किसी तरह की कोई चूक हो। अन्यथा भारी पड़ेगा। बारिश की स्थिति में जल निकासी की व्यवस्था को लेकर भी जोर रहा।

एक्सप्रेसवे का शिलान्यास होगा

योगी सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे सबसे पहले आजमगढ़ के मंदुरी हवाई पट्टी पहुंचे। यहां 14 जुलाई को प्रधानमंत्री की सभा होनी है और यहीं पूर्वांचल एक्सप्रेसवे का शिलान्यास होगा। सीएम के साथ भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डा. महेंद्रनाथ पांडेय भी थे। मंच का निरीक्षण कर सीएम ने अफसरों से जानकारी ली और निर्देश दिए। रैली स्थल पर ही प्रशासन संग बैठक की। चलते-चलते मीडिया से बातचीत में सीएम ने कहा कि पूर्वांचल के विकास में एक्सप्रेसवे मील का पत्थर साबित होगा। इस प्रोजेक्ट का शिलान्यास सपा की पूर्व सरकार ने बिना किसी तैयारी के श्रेय लेने की होड़ में कर दिया था, जो गलत था।

आजमगढ़ से योगी हेलीकॉप्टर से बनारस के राजातालाब स्थित कचनार पहुंचे। यहां भी 14 जुलाई को ही प्रधानमंत्री मोदी की रैली होगी और करीब एक हजार करोड़ की परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे। योगी ने मंच का मुआयना करने के बाद बीआरसी सभागार में प्रशासन संग बैठक कर जरूरी निर्देश दिए। यहां सीएम के साथ राज्यमंत्री डा. नीलकंठ तिवारी भी मौजूद रहे।

राजातालाब से मुख्यमंत्री का उडऩखटोला मीरजापुर के अदवां बैराज पहुंचा। यहां बने बाणसागर परियोजना का लोकार्पण 15 जुलाई को प्रधानमंत्री करेंगे। मीरजापुर में योगी के साथ स्थानीय सांसद व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल भी मौजूद रहीं। सीएम का काफिला चंदईपुर पहुंचा जहां पीएम की सभा होनी है। रैली स्थल पर ही सीएम ने अफसरों के साथ बैठक कर जरूरी निर्देश दिए। मीडिया से मुखातिब सीएम ने कहा कि बाण सागर परियोजना 1.7 लाख किसानों के लिए वरदान साबित होगी।

मुकम्मल सफाई व पेयजल के इंतजाम 

योगी पीएम के आगमन की अब तक की तैयारियों का जायजा लेने के बाद अफसरों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। पार्टी पदाधिकारियों को भीड़ जुटाने के साथ मुकम्मल सफाई व पेयजल के इंतजाम को भी कहा। समीक्षा बैठक के बाद वाराणसी के लिए रवाना हो गए।

 

By Nawal Mishra