मऊ, जेएनएन। महाराष्ट्र के पालघर में मॉब लिंचिंग के दौरान दो पूज्य संतों व उनके सहयोगी ड्रइावर की निर्मम हत्या से हिंदू समाज आहत है। इसे लेकर विश्व हिंदू परिषद के जिला मंत्री शैलेश मौर्य के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल शारीरिक दूरी का पालन करते हुए जिलाधिकारी ज्ञानप्रकाश त्रिपाठी से मिला और राष्ट्रपति को संबोधित मांगों का ज्ञापन सौंपा। इन लोगों ने पूरे घटना की सीबीआइ से जांच कराकर आरोपियों के विरुद्ध हत्या का मुकदमा दर्ज किए जाने की मांग की।

जिला मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र पूज्य संत महात्माओं की पुण्य भूमि है। यहां विगत दिनों पालघर में सनातनी परंपरा के जूना अखाड़े से संबंधित दो पूज्य संतों और उनके ड्राइवर की पुलिस की उपस्थिति में उपद्रवी भीड़ ने पीट-पीट कर निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी थी। घटना के बाद सोशल मीडिया में वीडियो वायरल हुए तथा विरोध होने से महाराष्ट्र सरकार हरकत में आई और कुछ लोगों की गिरफ्तारी की गई। घटना का क्या उद्देश्य था, यह स्पष्ट नहीं हो सका है। कहा कि इस तरह की घटनाएं पहले भी यहां हो चुकी हैं। ऐसे में इसकी निष्पक्ष जांच कराई जाएं। इस दौरान शैलेश के अलावा रामकृष्ण भारद्वाज, शैलू सिंह उपस्थित थे।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस