वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। नीट साल्‍वर गिरोह के खिलाफ वाराणसी पुलिस कमिश्‍नरेट की ताबड़तोड़ कार्रवाई का दौर जारी है। पीके उर्फ नीलेश के संपर्क में रहने वाले तमाम लोगों के खिलाफ पुलिस कड़‍ियां जोड़ने के साथ ही अपराध में लिप्‍त लोगों की हिस्‍ट्री भी खंगाल रही है। जल्‍द ही गिरोह के अन्‍य लोगों के भी पकड़ में आने की उम्‍मीद जगी है। दरअसल गिरोह के काफी सूत्र पटना से जुड़े हैं, मगर कार्रवाई वाराणसी और आसपास के सक्रिय लोगों की पर अधिक हो रही है। अब पुलिस पीके के संपर्क में रहने वाले पटना के करीबियों पर हाथ डालने जा रही है। इस बाबत जिले की पुलिस टीम पटना के संपर्क में बनी हुई है। 

गिरफ्तार सरगना पीके उर्फ नीलेश को लेकर वाराणसी की क्राइम ब्रांच और तेज तर्रार पुलिस अधिकारियों की टीम पटना के सभी गैंग के सदस्यों के ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। छापेमारी की कार्रवाई के दौरान पुलिस के हाथ कुछ सूत्र भी मिले हैं। एक डॉक्टर सहित तीन और सक्रिय सदस्यों के ठिकानों की रेकी कर ली गई है। वाराणसी पुलिस द्वारा संबंधितों पर कार्रवाई का क्रम जारी है। इस बाबत पूछताछ से हासिल सूत्रों को लेकर सॉल्वर गैंग पर वाराणासी पुलिस लगातार शिकंजा कस रही है। इसमें पीके के घरेलू लोगों के अलावा पीके के संपर्क में रहे लोगों का भी नाम शामिल है। माना जा रहा है कि अपराध में पीके के घर के लोग भी शामिल रहे हैं। 

वाराणसी पुलिस कमिश्‍नरेट की सक्रियता से पटना में गैंग के ज्यादातर सदस्‍य पीके की गिरफ्तारी के बाद से ही भूमिगत हो गए हैं। बता दें कि गिरोह के सरगना पटना के पीके और चंदौली के कन्हैया को कस्टडी रिमांड पर लेकर पुलिस पूछताछ और छापेमारी कर रही है। पुलिस सूत्रों के अनुसार पीके की बहन डाक्टर है और वह गिरोह की एक सक्रिय सदस्य है। उसका बहनोई रितेश सिंह भी पुलिस गिरफ्त में है और पूछताछ में कई राज उजागर किए हैं। पटना से नीट में सेंधमारी का कारोबार तो चल ही रहा था दूसरी ओर यूपी की कई सरकारी नौकरियों में सेंधमारी की जानकारी के बाद पुलिस अब पटना के साथ ही यूपी की अन्‍य परीक्षाओं में भी फर्जीवाड़े के मामलों को भी लेकर पूछताछ और कार्रवाई कर रही है। जल्‍द ही पटना और यूपी से कई अन्‍य कार्रवाई सामने आने की उम्‍मीद जगी है। 

Edited By: Abhishek Sharma