वाराणसी, जेएनएन। Varanasi Panchayat Election Results 2021: पंचायत चुनाव के आए परिणाम ने बड़ी पार्टियों को सोचने पर विवश कर दिया है। छोटे दलाें ने जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायत सदस्य तथा ग्राम प्रधान पद पिछले साल की अपेक्षा अधिक सीट पर कब्जा किया है। पंचायत चुनाव में अधिक सीट मिलने से उनके चेहरे पर खुशी साफ दिखाई दे रही है। वे इंटरमीडिया के जरिए एक-दूसरे की बधाई देते हुए आगामी विधानसभा में ताल ठोकने लगे हैं। इसी जीत के आधार पर छोटे दल बड़ी पार्टियों के साथ सीट की हिस्सेदारी भी तय करेंगे।

पंचायत चुनाव में बड़ी पार्टी भाजपा, कांग्रेस, सपा और बसपा कभी प्रत्याशी नहीं उतारती थी। पार्टी से जुड़े पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को बाहर से समर्थन होता था। समर्थित प्रत्याशी होते थे लेकिन इस बार पंचायत चुनाव में सभी बड़ी पार्टियों ने जिला पंचायत सदस्यों की सूची जारी की। यहां तक कि ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य के लिए समर्थित प्रत्याशी घोषित किया था। वहीं, अपना दल (कृष्णा गुट), अपना दल (एस) और सुभासपा हर साल की तरह इस बार भी पंचायत चुनाव में प्रत्याशियों की सूची जारी की थी। पिछले पंचायत चुनाव में अपना एक थी। दोनों को मिलाकर जिला पंचायत के सात सीट मिले थे।

इस बार अपना दल (एस) के जिलाध्यक्ष का दावा है कि उसे जिला पंचायत सदस्य की चार सीटें मिली हैं। वहीं अपना दल (कृष्णा गुट) के मंडल अध्यक्ष राजेश पटेल का दवा है कि जिला पंचायत सदस्य के चार प्रत्याशी जीते हैं। ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर संख्या दो गुनी से अधिक हो गई है। एक-दो दिन में सूची तैयार हो जाएगी। क्षेत्र पंचायत सदस्य के आधार पर दो ब्लाकों में प्रमुखी की दावेदारी है।

राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ बैठक कर ब्लाक प्रमुख के प्रत्याशी की घोषणा की जाएगी। सुभासपा के प्रदेश उपाध्यक्ष शशि प्रताप सिंह का दावा है कि जिला पंचायत पद पर दो सीटें पहले भी थीं, इस बार भी हैं। ऐसे में सुभासपा अपनी सीट बचाने में पूरी तरह सफल रही लेकिन ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्य के जीतने वाले प्रत्याशियों की संख्या 200 से अधिक है। संकल्प मोर्चा जल्द ही बैठक कर आगामी विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाएगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप