जागरण संवाददाता, वाराणसी। कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन का असर अब कम होने लगा है। संक्रमण दर भी घटने लगी है। इससे प्रशासन ने राहत की सांस ली है। हालांकि कोरोना पाजिटिव एक 13 वर्षीय बालक की मौत ने चिंता भी बढ़ा दी है। इस घटना के बाद स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के माथे पर भी बल आने लगा है। कारण कोरोना संक्रमण के बढ़ाव को रोकने में अधिकारी सफल नहीं हो पाए हैं।

मालूम हो कि पिछले दिनों 24 घंटे में 5771 लोगों की कोरोना जांच कराई गई, जिसमें 322 लोग संक्रमित पाए गए। हालांकि 5449 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई। इस प्रकार संक्रमण दर 5.58 प्रतिशत रही, जो पिछले दिनों से कम बताई जा रही है। सोमवार तक जिले में कुल सक्रिय मामले 3509 हो गए थे। कालभैरव निवासी 13 वर्षीय बालक 17 जनवरी 2022 को कबीरचौरा स्थित एसएसपीजी मंडलीय चिकित्सालय में बीमारी की हालत में भर्ती कराया गया था। 18 जनवरी 2022 को कोविड की जांच के बाद वह संक्रमित पाया गया। इसके बाद 19 जनवरी को बालक को पांडेयपुर स्थित पंडित दीनदयाल उपाध्याय चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। स्थिति अधिक खराब होने पर उसे बीएचयू रेफर किया गया था। बीएचयू में इलाज के दौरान उसकी 23 जनवरी यानी रविवार को मौत हो गई। बताया जा रहा है कि बालक का गुर्दा, फेफड़ा फेल होने के साथ ही अन्य कई समस्याएं हो गई थी।

बनारस की पिछले चौबीस घंटे की स्थिति

नए मामले --- 322

संक्रमण दर (%)-5.58 फीसद

मौत --------- 01

स्‍वस्‍थ -------509

रिकवरी रेट (%)-62.49 फीसद

कुल सक्रिय मामले --3509

Edited By: Saurabh Chakravarty