वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मौसम का रुख बदलाव की ओर होने के साथ ही तापमान में उतार चढ़ाव का दौर है। अधिकतम पारा एक ओर चढ़ाव की ओर है तो दूसरी ओर न्‍यूनतम तापमान दस डिग्री के आसपास बना हुआ है। इस प्रकार अधि‍कतम और न्‍यूनतम में बीस डिग्री तक का फासला होने से सेहत संबंधी दुश्‍वारियां भी आम हो चली हैं। दिन में धूप और रात में ओस से बारिश भी कोसोंं दूर हो गई है। ऐसे में वातावरण पूरी तरह शुष्‍क हो चुका है। जबकि पतझड़ का दौर शुरू होने की ओर होने के बीच बसंती हवाएं भी दिन में अब अपना असर दिखाने लगी हैं।  

सोमवार की सुबह आसमान साफ रहा और वातावरण में ठंड घुली रही, ठंड घुले होने से लोग सुबह गर्म कपड़ों में लिपटे नजर आए तो दिन चढ़ने के साथ ही वातावरण में धूप का गर्म अहसास घुल गया और नौ बजे के बाद लोगों के शरीर से गर्म कपड़े भी उतर गए। इसके बाद आसमान में चढ़ती धूप ने लोगों को मौसमी बदलाव का बखूबी अहसास भी कराया। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अगले दो चार दिन में मौसम का रुख बदलेगा और बादलों की भी मामूली सक्रियता हो सकती है। हालांकि, वातावरण से पर्याप्‍त नमी न मिल पाने की वजह से बारिश की संभावना कम ही है।

बीते चौबीस घंंटों में अधिकतम तापमान 28.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री अधिक रहा, न्‍यूनतम तापमान 11.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम रहा। आर्द्रता इस दौरान अधिकतम 80 फीसद और न्‍यूनतम 43 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में आसमान साफ है और बादलों की सक्रियता न के बराबर है। पहाड़ोंं पर बादलोंं की मामूली सक्रियता तो है लेकिन पश्चिमी विक्षोभ का असर नदारद है। ऐसे में मैदानी क्षेत्रों में तापमान में इजाफा लगातार जारी है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021