वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। Varanasi City Weather Update : मौसम विभाग का अनुमान है कि बनारस में अभी कुछ और दिन बारिश का आलम बरकरार रहेगा। मंगलवार रात को तेज बरसात के बाद बुधवार सुबह भी वर्षा होने से मौसम बेहतर हो गया। विगत कुछ दिनों गर्मी और उमस झेलने के बाद लोगों को काफी राहत मिल गई। बरसात में शहरी और ग्रामीण इलाकों में जल जमाव की स्थिति बनी हुई है।

मंगलवार को बनारस का अधिकतम तापमान 33.4 डिग्री सेल्सियस तो वहीं न्यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस तक गया। पारा के दोनों ही छोर सामान्य तापमान के बराबर ही दर्ज किए गए। बीएचयू के मौसम विज्ञानी प्रो. मनोज कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मानसून अब कुछ दिनों तक समस्त उत्तर भारत में सक्रिय रहेगा, वहीं पश्चिम और पूरब दोनाें दिशाओं से हवाएं चल रहीं हैं इस कारण से वर्षा ठीक-ठाक हुई। अभी चार-पांच दिन तक कुछ इसी तरह से बारिश की संभावना बनी हुई है। बीते दिनों जिस तरह से उमस का दौर जारी था उससे दाे दिन पहले ही ऐसी वर्षा अनुमानित थी। कई दिनों से उमस 80 फीसद के आसपास थी, जो कि बारिश के लिए उचित वातावरण तैयार कर चुकी थी।

सावन की पहली बारिश में ही शहर की सड़कें जलमग्न

लगातार तीन चार दिनों से उमस झेल रहे काशीवासियों के लिए मंगलवार का दिन मंगलकारी साबित हुआ। शाम को करीब डेढ़ घंटे की बारिश ने लोगों को उमस से तो राहत दी, लेकिन नगरीय व्यवस्थाओं की पोल खोलकर रख दी। शहर की मुख्य सड़कों से लेकर गलियों तक में पानी जमा हो गया। हालात यह थे कि शहर के सबसे सघन आबादी के साथ अत्यधिक उच्चाई वाले बांसफाटक व घुघुरानी गली तक में पानी लग गया जिससे पब्लिक को घंटों आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। घर से लेकर दुकान तक में पानी जमा होने से लोगों को परेशानी के साथ ही आर्थिक नुकसान भी सहना पड़ा। जगह-जगह जल जमाव व कीचड़ से जहां जनता को सांसत झेलनी पड़ी। शाम से ही मौसम बन रहा था। रात आठ बजे के करीब तेज बारिश शुरू हुई, जिसने करीब साढ़े नौ बजे तक लोगों को राेके रखा। इसके बाद रात 11 बजे तक हल्की बारिश होती रही। इसके चलते अंधरापुल, छोहरा, पीलीकोठी, घुघरानी गली, कचहरी, रविंद्रपुरी, शिवपुर, भरलाई, बजरडीहा, हुकुलगंज, रानीपुर, तुलसीपुर, बैजनत्था, विनायका, कोलूहुआ, अकथा-बेला मार्ग, पांडेयपुर-भक्तिनगर मार्ग, भोजूवीर, तेलियाबाग समेत शहर के अन्य निचले हिस्सोें में पानी जमा रहा। नगर निगम के 90 वार्डों में नाला सफाई का अभियान कुछ ही दिन पहले चला था। निगम ने करीब 133 नालों की तली-झाड़ सफाई का दावा किया था। बावजूद इसके जल जमाव की समस्या से शहरवासियों को दो-चार होना पड़ा।

बरसात के बाद शहर के कई इलाके चार घंटे तक अंधेरे में रहे। सिगरा स्थित बैंक में कालोनी में बारिश होते ही बिजली कट गई। यहां देर रात करीब 11 बजे तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हुई थी। उधर तेज आंधी के कारण सिगरा में केबल ब्रेकडाउन होने के कारण नगरनिगम और काशी विद्यापीठ फीडर बंद हो गया। इस कारण इंग्लिशियालाइन, अन्नपूर्णा नगर, मलदहिया फूलमंडी इलाके में चार घंटे तक आपूर्ति बाधित रही। इसके साथ ही लहुराबीर, चेतगंज, भेलूपुर, बजरडीहा, खोजवां, पांडेयपुर, सारनाथ, गोइठहां, सोयेपुर, लमही, बड़ा लालपुर, छोटा लालपुर, नटियादाई क्षेत्र में भी तीन से चार घंटे बिजली आपूर्ति बाधित रही। संविदा लाइनमैंन देर रात फाल्ट खोजने में जुटे रहे।

Edited By: Saurabh Chakravarty