वाराणसी, जेएनएन। पूर्वांचल में मौसम का रुख बदला हुआ है, तापमान सामान्‍य से पांच डिग्री अधिक तक होने का यह असर हुआ है  कि लोगों के शरीर से गर्म कपड़ों और बिस्‍तर से रजाई ने विदाई ले ली है। सड़कों पर शुष्‍क हो चले मौसम की वजह से धूल और धूप ने कब्‍जा जमा लिया है। सुबह नौ बजे के बाद धूप भी मानो अप्रैल की गर्मियों की शुरुआत वाली हो चली है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार आने वाले दिनों में हवा का रुख पछुआ हुआ तो तापमान में कमी संभव है। 

शनिवार की सुबह आसमान साफ रहा और दिन चढ़ने के साथ ही वातावरण में भी गर्मी घुलती गई। सुबह ठंडी हवाओं का जोर तो रहा लेकिन धूप खिलने के बाद ठंडी हवाओं ने भी विदायी ले ली। धूप के साथ ही हवा चली तो वह भी शुष्‍क ही नजर आई। घरों में अब रातों को बिस्‍तर से रजाई ने विदायी ले ली है तो सुबह से ही गर्म हो चले मौसम की वजह से शरीर से गर्म कपड़े भी उतर गए हैं। वातावरण में घुली गर्मी का आलम यह है कि सुबह दस बजे के बाद ही लोग धूप में पसीना पसीना नजर आने लगे हैं। जबकि, दोपहर करीब एक बजे से तीन बजे तक लोग घरों से निकलने में परहेज करने लगे हैं। 

बीते चौबीस में अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से पांच डिग्री अधिक‍ रहा, न्‍यूनतम तापमान 16.1 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्‍य से तीन डिग्री अधिक दर्ज किया गया। वहीं आसमान साफ होने के साथ ही तापमान में अधिकता का स्‍तर लगातार बरकरार है। मौसम विज्ञानियों के अनुसार हवा का रुख जो पछुआ था उसमें बदलाव होने की वजह से ही बादल और पश्चिमी विक्षोभ का असर पूर्वांचल तक नहीं हो पा रहा है। जिसकी वजह से दिन में धूप होने के साथ ही वातावरण में गर्मी घुल जा रही है। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021