वाराणसी, जागरण संवाददाता। पूर्वांचल में मौसम का रुख अब बारिश के बाद बदलाव का होने जा रहा है। आने वाले दिनों में मौसम का रुख अब ठंड की ही ओर होने जा रहा है। बारिश से पूर्व वातावरण में जो उमस के हालात थे वह समय के साथ बदल गए और मौसम का रुख अब गुलाबी ठंड की ओर हो चुका है। जल्‍द ही वातावरण में कुहासा कोहरे के रूप में बदल जाएगा और ठंडक का पर्याप्‍त असर नजर आने लगेगा। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि अब माह भर के बाद पश्चिम से आने वाली सर्द हवाएं जो मध्‍य पाकिस्‍तान तक पहुंच चुकी हैं वह राजस्‍थान के रास्‍ते उत्‍तर भारत में दाखिल होंगी।

बुधवार की सुबह आसमान में बादलों की मामूली आवाजाही का रुख बना रहा और वातावरण में ठंडी हवाओं का असर बने रहने से लोगों को गुलाबी ठंड का अहसास भी हुआ। घरों में अब कूलर और एसी बंद होने के बाद पंखे भी बंद होने लगे हैं। अब चादर वाली ठंडक होने के बाद कंबल वाली ठंडक भी पखवारे भर बाद नजर आने लगेगी और नवंबर मध्‍य के बाद रजाइयां इन सभी का स्‍थान घरों में ले लेंगी। इसके बाद मौसम का रुख बदल जाएगा और पश्चिमी विक्षोभ ठंडी हवाओं का झोंका ले आएगा। 

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 30.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री कम रहा। न्‍यूनतम तापमान 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य रहा। आर्द्रता अधिकतम 84 फीसद और न्‍यूनतम 79 फीसद दर्ज की गई। मौसम विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों में पूर्वांचल में बादलों की सक्रियता कम है, जबकि पूरब में बिहार की ओर बादलों की आवाजाही का क्रम बना हुआ है। मौसम विभाग ने गुरुवार से आसमान साफ होने की उम्‍मीद जाहिर की है। इसके बाद सप्‍ताह भर में कुहासा, ओस और कोहरे का दौर शुरू हो जाएगा।

Edited By: Abhishek Sharma