वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। पूर्वांचल में मौसम का रुख बदल चुका है, अब मानसूनी बारिश का लंबा दौर थमने की ओर है। दस दिनों में मानसून लगभग विदायी ले लेगा। इसके बाद दिन में धूप और रात में ओस का दौर शुरू हो जाएगा। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि औसत के करीब बादलों ने बारिश करा दिया है। अब दिन में धूप थोड़ी कम तल्‍ख होगी और रातें कुछ सर्द होने लगेंगी। अंचलों में कुहासा बनने लगा है और जल्‍द ही पखवारे भर बाद यह कोहरे का रूप लेने लगेगा। अभी मामूली ठंड सुबह महसूस होती है जबकि गुलाबी ठंड पूरी तरह से पखवारे भर के बाद महसूस होने लगेगी। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख बदलेगा तो उमस से भी राहत मिल जाएगी। 

रविवार की सुबह आसमान में मामूली बादलों का दौर बना रहा, दिन चढ़ा तो सुबह सात बजे के बाद बादलों की खोह से सूरज की रोशनी ने भी टोह ली। बादलों की सक्रियता का दौर खत्‍म होने के बाद भी मामूली बादलों की आवाजाही का दौर बना हुआ है। सुबह ठंड का अहसास होने लगा है तो घरों में अब कूलर एसी ने भी विदायी ले ली है। ठंड का मामूली सा अहसास जल्‍द ही गुलाबी ठंड के अहसास में बदल जाएगा और पूर्वांचल में कुहासा और कोहरे का दौर लोगों को राहत देने लगेगा। मौसम विज्ञानी मान रहे हैं कि पखवारे भर में बादल और कुहासे की स्थिति काफी हद तक स्‍पष्‍ट हो जाएगी।  

बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 35.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से दो डिग्री अधिक रहा। न्‍यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्‍य से एक डिग्री कम रहा। आर्द्रता अधिकतम 81 फीसद और न्‍यूनतम 70 फीसद दर्ज की गई। मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी सैटेलाइट तस्‍वीरों के अनुसार पूर्वांचल के आसमान में बादलों की सक्रियता कुछ कम है। हालांकि, मौसम विभाग ने इस पूरे सप्‍ताह बादलों की आवाजाही के संकेत दिए हैं। माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में मौसम का रुख दोबारा बदलेगा और तापमान में कमी आएगी। इसकी वजह से गुलाबी ठंड का असर पूर्वांचल में होने लगेगा।

Edited By: Abhishek Sharma