वाराणसी, जेएनएन। सामान्य रूप से ट्रेनों के परिचालन से पूर्व जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने शनिवार को कैंट स्टेशन डायरेक्टर के सभा कक्ष में एडीआरएम व स्टेशन डायरेक्टर संग बैठक की। इस दौरान अन्‍य प्रदेशों में फंसे प्रवासी यात्रियों के आगमन को लेकर चर्चा की गई। जिला प्रशासन के निर्देशन में प्रवासी श्रमिकों संबंधी श्रमिक स्पेशल ट्रेनें दो जून तक ही चलाई जाएंगी। इसके पश्चात रेल प्रशासन सामान्य रूप से ट्रेनों का संचालन प्रारंभ कर देगा।

रेलवे स्टेशन के लिए 24 घंटे एंबुलेंस सुविधा हो उपलब्‍ध

जिलाधिकारी ने सीएमओ को निर्देशित किया कि रेलवे स्टेशन के लिए 24 घंटे एंबुलेंस की सुविधा आॅन कॉल उपलब्ध रखी जाए ताकि जरूरत पड़ने पर तत्काल मौके पर पहुंच जाए। वहीं मंडुआडीह रेलवे स्टेशन पर समस्त व्‍यवस्‍थाएं कल से रेल प्रशासन संचालित करेगा। रेलवे द्वारा स्टेशन पर मेडिकल काउंटर भी लगाने का निर्देश दिया गया है। रेल प्रशासन अपनी टीम लगाकर यात्रियों की थर्मल स्‍कैनिंग तथा मेडिकल सहायता को उपलब्‍ध कराएगा। चूंकि सामान्य रूप से ट्रेनों का संचालन से रेलवे स्‍टेशन पर यात्रियों का दबाव बढ़ेगा इसलिए प्रशासन पहले से सतर्क हो गया है।

एक दिन पूर्व भी तैयारियों को परखा गया था

कैंट स्टेशन पर शुक्रवार को भी ग्राउंड रिहर्सल कर यहां बनकर दो जून से चलने वाली ट्रेनों की तैयारियों को परखा गया था। रेलवे, जीआरपी व आरपीएफ के अधिकारियों ने परिसर में यात्रियों व श्रमिकों की अलग-अलग व्यवस्था रखने की समीक्षा की। इसके पूर्व अपर मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय में आयोजित बैठक के दौरान उपस्थित विभागध्यक्षों ने कार्य योजनाओं पर चर्चा की गई थी। बैठक में एडीआरएम रवि प्रकाश चतुर्वेदी, निदेशक आनन्द मोहन सिंह, आरपीएफ के सहायक सुरक्षा आयुक्त डीके चौहान, इंस्पेक्टर अनूप कुमार सिन्हा, जीआरपी इंस्पेक्टर अशोक कुमार दुबे इत्यादि मौजूद थे। मंडुआडीह स्टेशन पर शुक्रवार को चेन्नई से श्रमिकों को लेकर स्पेशल ट्रेन आई। उनको 1200 पैकेट भोजन व बोतल बंद पानी दिया गया। हालांकि इस दौरान बहुत से यात्रियों तक लंच पैकेट नहीं पहुंच सका।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021