जागरण संवाददाता, वाराणसी। प्रदेश में अब रात्रि 10 बजे तक टीकाकरण की व्यवस्था होने के क्रम में वाराणसी में भी एक किसी चिकित्सालय में यह सुविधा शुरू की जाएगी। हालांकि इसका अभी चयन नहीं हुआ। इस संबंध में सीएमओ को निर्देश दिया गया है कि वे जिले के किसी एक ऐसे महत्वपूर्ण अस्पताल का चयन करें जहां रात 10 बजे तक टीकारण की व्यवस्था सुचारू रहे। इसके साथ ही जिन गांव में सभी लोगों ने प्रथम डोज लगा लेंगे उसका नाम प्रथम डोज संतृत्प ग्राम नाम दिया जाएगा।

वहीं जिस गांव में दोनों डोज शत-प्रतिशत हो जाएगा सको कोविड सुरक्षित ग्राम घोषित किया जाएगा। वहां के प्रधान को सम्मानित करने का भी निर्देश जारी किया गया है। साथ ही सेकेंड डोज लगाने के लिए कल्टर बनाने के लिए भी कहा गया है। ग्रामीण क्षेत्र के केन्द्रों पर आन स्पाट (उपस्थित होकर) नागरिकों का टीकाकरण किया जाएगा। डा. सिंह ने लोगों से अपील की कि लोग अधिक से अधिक अपने नजदीकी ग्रामीण क्षेत्र में बनाए गए टीकाकरण केंद्रों पर उपस्थित होकर अपना टीकाकरण कराएं। नागरिक अपनी सुविधानुसार किसी भी केंद्र पर टीकाकरण करा सकते हैं।

अपील की कि वह केंद्रों पर शांतिपूर्वक रूप से टीकाकरण का लाभ उठाएं। सभी नागरिक अपनी बारी आने पर ही टीकाकरण कराएं। उन्होंने आग्रह किया है कि सरकार द्वारा दी जा रही निःशुल्क सुविधाओं का शांतिपूर्ण तरीके से लाभ उठाएं जिससे अन्य नागरिकों को किसी भी प्रकार की समस्या न हो। चिकित्सा विज्ञान संस्थान, बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल स्थित एमसीएच विंग में अब लेबर रूम व वार्ड शिफ्ट करने का कार्य अंतिम चरण में चल रहा है। पुराने प्रसूति वार्ड को धीरे-धीरे खाली कराया जा रहा है। मालूम हो कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 जुलाई को इस विंग का लोकार्पण किया था। पिछले दिनों स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की टीम ने दौरा किया था।

Edited By: Saurabh Chakravarty