वाराणसी, जेएनएन। मुख्यमंत्री ने सेवापुरी ब्लाक के हाथी बाजार के सीएचसी को गोद लेने के साथ ही पार्टी के जनप्रतिनिधियों से अपील की थी कि सभी एक-एक स्वास्थ्य केंद्र को गोद लें। मुख्यमंत्री की इस घोषणा के साथ ही माननीय आगे आए और सभी ने अपने-अपने क्षेत्र के प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों में से एक-दो को चुनकर संवारने का संकल्प लिया। दक्षिणी विधानसभा क्षेत्र के विधायक ने एक नहीं बल्कि पांच प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को गोद लेकर बड़ा संकेत दिया है। हालांकि माननीय अपने गोद लिए केंद्रों को कितना संवार पाते हैं, यह तीन चार माह में दिखने लगेगा।

सबसे बड़ी चुनौती इन केंद्रों को कोविड की तीसरी वेव के लिए अपडेट करना होगा। इसके साथ ही दवा से लगायत अस्पताल में डाक्टरों की मौजूदगी के लिए भी तत्पर होना होगा। जनप्रतिनिधियों की ओर से गोद लेने के बाद सबसे अधिक उम्मीद क्षेत्र के लोगों की बढ़ी है। सबकी नजर भी इसी पर टिकी है। कुछ का तो कहना है कि अब विधायक जी ने गोद ले लिया है, अब सब कुछ पटरी पर आ जाएगा। क्षेत्रीय जनता की उम्मीदों पर खरा उतरना माननीयों के लिए आसान नहीं होगा क्याेंकि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की समस्या अनगिनत है। सिर्फ विधायक निधि के पैसे देने से ही यहां की व्यवस्था ठीक नहीं हो सकती है। चिकित्सक से लगायत कर्मियों की भारी कमी है तो संसाधन भी कुछ खास नहीं है। इसके लिए सतत मानिटरिंग व प्रयास की जरूरत होगी।

मुख्यमंत्री ने हाथी बाजार के सीएचसी को गोद लेने के साथ ही सबसे पहले वहां का दौरा किया। इससे पूर्व आक्सीजन प्लांट के लिए खाका खींचा। दो वार्ड 16-14 बेड के निर्माण के लिए निर्देश दिया। इसमें से 14 बेड बच्चों के लिए तो 16 बुजुर्गों के लिए निर्धारित किया गया है। इस दिशा में काम भी शुरू हो चुका है। मुख्यमंत्री के आदेश के क्रम में एक माह के अंदर सब कुछ यहां अपडेट हो जाएगा। माडल केंद्र बनाने की दिशा में प्रशासन जी जान से जुट गया है। कई मशीनें भी इस केंद्र को लखनऊ से मिल चुकी हैं। क्षेत्र की जनता इस केंद्र को लेकर खासा उम्मीद लगाए हुए है। इसी क्रम में विधायकों से भी जनता की उम्मीद बढ़ गई है। इसमें से तीन विधायक तो प्रदेश कैबिनेट में भी हैं। इसलिए जनता माडल स्वास्थ्य केंद्र की कल्पना कर रही है।

मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक में प्रस्तुत की गई थी सूची

जिले के विधायकों की ओर से गोद लिए स्वास्थ्य केंद्रों की सूची पिछले दिनों मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक के दौरान भी प्रस्तुत की गई थी। बताया जा रहा है कि मुख्यमंत्री ने एक एक केंद्र के नाम को बहुत ध्यान से पढ़ा था। साथ ही इसको कोविड की तीसरी लहर के दृष्टिगत तैयार रखने को निर्देशित भी किया था।

इन केंद्रों को संवारेंगे माननीय

-कैंट विस क्षेत्र के विधायक सौरभ श्रीवास्तव-शहरी पीएचसी , सदर बाजार

-उत्तरी विस क्षेत्र के विधायक रविंद्र जायसवाल-पीएचसी शिवपुर

-दक्षिणी विस क्षेत्र के विधायक नीलकंठ तिवारी-पीएचसी कोनिया, राजघाट, बेनियाबाग, जैतपुरा व दुर्गाकुंड

-रोहनिया विस क्षेत्र के विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह -सीएचसी मिसिरपुर व अतिरिक्त पीएचसी गंगापुर

-शिवपुर विस क्षेत्र के विधायक अनिल राजभर-पीएचसी चिरईगांव

-पिंडरा विस क्षेत्र के विधायक-सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गंगापुर पिंडरा

-सेवापुरी विस क्षेत्र के विधायक-नील रतन सिंह पटेल - अतिरिक्त पीएचसी राजातालाब

-एमएलसी अशोक धवन-शहरी पीएचसी अशफाक नगर

-एमएलसी लक्ष्मण आचार्य - शहरी पीएचसी माता आनंदमयी अस्पताल

 

Edited By: Saurabh Chakravarty