गाजीपुर, जेएनएन। यूपी बोर्ड परीक्षा-2020 की व्यवस्था और सख्त होने जा रही है। नकल रोकने के लिए अब तक सीसी कैमरे की निगरानी में हो रही इस परीक्षा की अब वेबकास्टिंग भी की जाएगी। इसके लिए सभी परीक्षा केंद्रों में सीसी टीवी कैमरे के डीवीआर के साथ राउडर डिवाइस भी लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। शासनादेश मिलने के बाद विभाग इसकी तैयारी में लग गया है। इसके बिना परीक्षा केंद्र नहीं बनाया जाएगा।

   शासनादेश में जिक्र है कि इस योजना को सफल बनाने के लिए जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में ही एक कंट्रोल रूम बनाया जाएगा जहां से इंटरनेट की माध्यम से हर केंद्र की लाइव निगरानी की जाएगी। यहां से किसी भी परीक्षा केंद्र की स्थिति को देखा जा सकता है। यूपी बोर्ड परीक्षा नकल के लिए काफी बदनाम है। इस पर रोक लगाने के लिए सरकार आधुनिक तकनीक का सहारा ले रही है। दो वर्ष पहले सभी परीक्षा केंद्रों में सीसी कैमरा लगाने का निर्देश जारी किया गया था। इसके बाद शिकायत मिली की सीसी कैमरे के सामने भी परीक्षार्थियों को बोल कर नकल कराया जा रहा है। अगले वर्ष सीसी कैमरे के साथ वायस रिकार्डर लगाने को कहा गया। इसके बाद भी नकल की शिकायत मिलती रही। इस बार सीसी कैमरे के डीवीआर में राउडर डिवाइस जोडऩे का फरमान सुनाया गया है। इसके माध्यम से कहीं से भी किसी भी परीक्षा केंद्र का लाइव प्रसारण देखा जा सकता है। इस नए आदेश को लेकर विद्यालय संचालकों में काफी दहशत व उहापोह की स्थित बनी हुई है।

बोले अधिकारी : माध्यमिक शिक्षा परिषद ने अब परीक्षा केंद्रों में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे के डीवीआर के साथ राउडर डिवाइस लगाने का निर्देश दिया है। इससे सभी विद्यालयों को अवगत कराया जा रहा है। विद्यालय प्रबंधन बोर्ड की वेबसाइट पर अपनी आधारभूत सूचना के साथ इसकी जानकारी भी जरुर अपलोड करें।

- डा. ओपी राय, जिला विद्यालय निरीक्षक।

Posted By: Saurabh Chakravarty

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप