वाराणसी, जेएनएन। Unlock 1 in Varanasi  वाराणसी में लॉकडाउन 5 शुरू होते ही 1 जून से नई व्‍यवस्‍था लागू हो गई। वहीं सोमवार को रोडवेज बस स्टैंड पर यात्रियों के आने-जाने का क्रम शुरू हो गया। चालक स्टेयरिंग पर बैठे दिखाई दिए तो कंडक्टर यात्रियों को बुलाता रहा। बसों में चढ़ने से पहले यात्रियों को कंडक्टर सैनिटाइजेशन कर रहा था। साथ ही उन्हें मुंह पर मास्क लगाने और अपनी निर्धारित सीट पर बैठने की सलाह दी जा रही है। उधर, प्रवेश गेट पर तैनात रोडवेज कर्मी यात्रियों को कोरोना वायरस के बारे में जानकारी दे रहे थे।

थर्मल स्कैनिंग के दौरान तापमान मिला अधिक, महिला को रोका

आरएम एसके राय ने बताया कि कर्मचारियों को शारीरिक दूरी का कड़ाई से पालन करने और कराने को कहा गया है। लापरवाही मिलने पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं मुंबई से आई एक महिला का थर्मल स्कैनिंग के दौरान तापमान अधिक होने पर उसे रोक दिया गया। साथ ही कर्मचारियों को उस महिला पर विशेष नजर रखने को कहा गया। वहीं यात्रियों को सुझाव दिया गया कि वे मुंह पर मास्‍क जरूर लगाएं। यदि कोई बिना मास्‍क के पहुंचता है तो उसे बस में नहीं चढ़ने दिया जाएगा। चूंकि वाराणसी में कोरोना वायरस संक्रमण में मामले दिनों दिन बढ़ते जा रहे हैं एेसे में शारीरिक दूरी व मास्‍क का प्रयोग अनिवार्य है।

वाराणसी में 24 मार्च से ही रोडवेज की सेवा बंद कर दी गई थी। लॉकडाउन के दौरान अन्‍य प्रदेशों में फंसे लोग कई बार यहां बसों को चलाने के लिए दबाव बनाया था लेकिन परिवहन निगम जिला प्रशासन से आदेश नहीं होने का हवाला देता रहा। ऐसे में कई प्रवासी श्रमिक नाराज भी दिखे। हालांकि जिला प्रशासन के आदेश के बाद उन्‍हें स्‍पेशल बस से उनके घर को रवाना किया गया था।  अब 1 जून से रोडवेज की बसें चालू कर दी गई हैं ऐसे में लोगों ने राहत की सांस ली है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस