चंदौली, जेएनएन। कोरोना संक्रमण की शुरुआत से ही ट्रेनों की थमी रफ्तार को अब गति मिलने लगी है। ट्रेनों को गति मिलने की वजह से अब रेलवे की आय भी पटरी पर आने की उम्‍मीद जगी है।  अब कोरोना काल में पटरी पर रेल परिचालन आने लगा है। इससे रेल यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। हालांकि, इस दौरान कोविड-19 नियम का यात्रियों को पालन करना होगा, बिना मास्क सफर नहीं कर सकेंगे। 

कोरोना संक्रमण के कारण बेपटरी हो गई रेल परिचालन अब पटरी पर आने लगी है। हालांकि अभी राजधानी, स्पेशल, एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनें चलाई जा रही हैं। अब मेमू पैसेंजर का परिचालन भी बहाल होने लगा है। इसी क्रम में रविवार से पटना-गया-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन के बीच दो जोड़ी मेमू पैसेंजर ट्रेन चलाया जाएगा। इससे यात्रियों को सहूलियत होगी। कोविड-19 नियम का यात्रियों को पालन करना होगा। बिना मास्क के यात्री सफर नहीं कर सकेंगे।

मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि पटना-पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन मेमू पैसेंजर 19 सितंबर से अगली सूचना तक पटना से 20.00 बजे प्रस्थान कर सभी छोटे बड़े स्टेशनों पर रूकते हुए 4.28 बजे पीडीडीयू जंक्शन पहुंची। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन-पटना मेमू पैसेंजर 20 सितंबर से पीडीडीयू जंक्शन से 5.35 बजे खुलकर 14.40 बजे पटना पहुंची। पटना-गया मेमू पैसेंजर 19 से अगली सूचना तक पटना से पांच बजे चलकर सभी छोटे बड़े स्टेशनों पर रूकते हुए 8.08 बजे गया पहुंची। गया-पटना मेमू पैसेंजर 19 सितंबर से गया से 4.30 बजे खुलकर 7.15 बजे पटना पहुंचेगी। विदित हो कि कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनों के परिचालन पूरी तरह से ठप हो गया था। केवल मालगाड़ियां ही चलाई जा रही थीं ताकि लोगों तक आवश्यक वस्तुएं पहुंच सकें। पहली लहर के बाद दूसरी लहर ने भी परेशानी खड़ी कर दी। अब काफी हद तक संक्रमण पर काबू पाने के बाद ट्रेनों का परिचालन पटरी पर आने लगा है।

Edited By: Abhishek Sharma