चंदौली,जेएनएन । शहाबगंज थाना क्षेत्र के अतायस्तगंज गांव में पुरानी रंजिश में परिवार के लोग ऐसे लड़े कि ताऊ और भतीजे की जान चली गई। जानकारी होते ही घर के लोग दोनों का शव लाने को ट्रामा सेंटर पहुंच गए वहीं महिलाओं का रो-रोकर बुरा हाल है। मारपीट की घटना शनिवार की दोपहर एक ही परिवार के चाचा- ताऊ के बीच हुई थी। दोनों पक्षों में खूनी संघर्ष के दौरान जमकर चले लाठी, डंडे, गड़ासा में भतीजे देवानंद पांडेय (37) का पैर कट गया था वहीं हरिशंकर पांडेय (70) को गंभीर चोटें आईं थी। साथ ही गौरव पांडेय (18) गंभीर रूप से घायल हो गए थे। तीनों को वाराणसी ट्रामा सेंटर भर्ती कराया गया था। देर रात इलाज के दौरान देवानंद और हरिशंकर की मौत हो गई। 

देवानंद पांडेय के पिता पारसनाथ पांडेय का शनिवार को दसवां था। देवानंद उनके भाई शिवानंद एवं शिवानंद के पुत्र गौरव पांडेय दसवा कार्यक्रम कर घर लौट रहे थे। आरोप है कि रास्ते में ही परिवार के लोगों से किसी बात को लेकर कहासुनी हो गई। दोनों पक्षों में शुरू हुई जुबानी जंग देखते ही देखते मारपीट में तब्दील गई। दोनों आेर से लाठी डंडा व गड़ासा से एक दूसरे पर हमला किया गया। बताया जाता है कि परिवार की महिलाएं पहुंची तो एक ने गड़ासा पकड़ा दिया। उसके बाद तो खूनी संघर्ष हो गया। इसमें देवानंद, शिवानंद पांडेय, गौरव कुमार, व दूसरे पक्ष के हरिशंकर पांडेय को गंभीर चोटें आईं।

मारपीट के चलते गांव में कुछ देर के लिए अफरा तफरी का माहौल बन गया था। पुलिस पहुंची तो घायलों को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर ले गई। चिकित्सकों ने गंभीर घायल देवानंद, शिवानंद व गौरव पांडेय काे प्राथमिक उपचार कर ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया था। देवानंद का एक पैर गड़ासा के हमले में कट गया था। घटना की जानकारी हाेते ही एक पक्ष के लोग घर का ताला बंद कर और दूसरे पक्ष के पुरुष वर्ग ट्रामा सेंटर पहुंच गए। दोनों पक्षों की ओर से थाने में दस लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस