वाराणसी, जेएनएन। मंडुआडीह थानां क्षेत्र के शिवदासपुर लालबत्ती क्षेत्र में विगत 23 मार्च की रात में लालता देवी 48 वर्ष की गला दबाकर व सिर पर वजनी वस्तु से प्रहार कर हत्या कर दी गयी थी जिसमे मंडुआडीह पुलिस ने 13 अप्रैल को विक्की जायसवाल निवासी संजय नगर, पहड़िया थाना लालपुर व अंकित कुमार सिंह अकथा थाना लालपुर को जेस्ट कार समेत पुलिस लाइन फ्लाईओवर के ऊपर से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने उन दोनों को जेल भेज दिया था।

थाना प्रभारी परशुराम त्रिपाठी ने बताया की इस हत्याकांड के मुख्य आरोपी राहुल उर्फ रंजन त्रिपाठी व मृतका की दत्तक पुत्री हिना उर्फ प्रिया त्रिपाठी की तलाश में पुलिस जुटी हुई थी लेकिन यह दोनों इतने शातिर थे कि लालता देवी की हत्या करने के बाद दोनों अपना मोबाइल बंद कर शहर छोड़ कर नेपाल भाग निकले थे पुलिस सर्विलांस व मुखबिर की सहायता से इनकी तलाश में लगी हुई थी तभी शुक्रवार की सुबह मुखबिर से सूचना मिली कि हिना व राहुल उर्फ रंजन त्रिपाठी सोयेपुर थाना लालपुर में अपने पति राहुल उर्फ रंजन त्रिपाठी के साथ आयी हुई है सूचना पर पुलिस ने टीम तैयार कर सोयेपुर में पहुचकर दत्तक पुत्री हिना उर्फ प्रिया त्रिपाठी व राहुल उर्फ रंजन त्रिपाठी को गिरफ्तार कर लिया।

थाना प्रभारी ने बताया की पूछताछ में हिना व राहुल के कुबूल किया की हम लोगों की निगाह मृतका लालता देवी द्वारा अर्जित किये गए संपत्तियों पर थी जिसके लिए अंकित व विक्की को हम लोगों ने हत्या करने के प्लान में शामिल किया और हत्या करने के बाद शव को कंबल व दरी में लपेट कर कार द्वारा किसी सुनसान स्थान पर फेकने की फिराक में थे तभी मृतका का भाई विजय कुमार निवासी कैमूर बिहार अपनी बहन को खोजने लगा जिससे घबरा कर हम लोगों ने मृतका का शव मकान के पीछे के हिस्से में फेक दिया व दरवाजे में ताला बंद कर घर मे रखे तीन बैग जिसमे कपड़े थे लेकर कार द्वारा मौके से भाग निकले।पुलिस के पूछ ताछ में पता चला कि दत्तक पुत्री ने अपनी मां के खिलाफ शादी की थी और मां की रोक टोक उसे पसंद नही था।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप