वाराणसी, जागरण संवाददाता। सोनभद्र जिले के जंगलों से तस्‍कर वन उपज की लंबे समय से तस्‍करी करते रहे हैं। इस बार वाराणसी पुलिस की सक्रियता के चलते सोनभद्र के जंगलों से वन उपज के तौर पर तेंदू पत्‍ता तस्‍करी कर प्रयागराज ले जाते समय पुलिस के पकड़ में आ गया। इस दौरान तस्‍कर भी पुलिस के हत्‍थे चढ़ गए।  

रोहनिया पुलिस ने तेंदू के पत्ते की तस्करी का मामला पकड़ा है। इस बाबत दो आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से मालवाहक समेत भारी मात्रा में तेंदू का पत्ता बरामद किया गया। गिरफ्त में आए आरोपितों में श्यामलाल निवासी साईगढ़ थाना रायपुर जिला सोनभद्र व महेन्द्र निवासी सुअरसोत, थाना माची, सोनभद्र शामिल हैं।

पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सूर्यकांत त्रिपाठी व अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण द्वारा चलाये जा रहे अभियान के क्रम व क्षेत्राधिकारी सदर के पर्यवेक्षण में मंगलवार को रोहनिया पुलिस क्षेत्र में संदिग्ध लोगों व वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इस बीच जरिए मुखबिर सूचना मिली कि पिकअप वाहन से कुछ लोग तेंदू का पत्ता प्रयागराज की ओर ले जा रहे हैं। इस सूचना के बाद मोहनसराय बाईपास की और घेरेबन्दी कर पुलिस ने पिकअप को रूकवाया। तलाशी ली गई तो उसमें से अवैध 840 किलोग्राम वजनी 25 बोरा तेंदू का पत्ता(वन उपज) बरामद किया गया। पुलिस ने पिकअप में मौजूद दो तस्करों को दबोच लिया।

इस सम्बन्ध में रोहनिया पुलिस की ओर से वन अधिनियम 1927 की विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज करते हुए विधिक कार्रवाई की जा रही है। पूछताछ के दौरान आरोपितों ने पुलिस को बताया कि पिकअप में 25 बोरा तेंदू का पत्ता लदा है। इसे सोनभद्र से लादकर प्रयागराज ले जाया जा रहा था, जिसका लाइसेंस मेरे पास नहीं है। जंगल से तेंदू का पत्ता तोड़कर इकट्ठा करते हैं तथा भिन्न - भिन्न जगहों पर ले जाकर बेच देते हैं। जिससे अच्छा खासा मुनाफा हो जाता है, जिससे हम लोग जीविकोपार्जन करते हैं। गिरफ्तार करने वाली टीम में उपनिरीक्षक कुमार तिवारी, हेड कांस्टेबल ओम प्रकाश, राकेश सिंह शामिल।थे।

Edited By: Abhishek Sharma