वाराणसी, जागरण संवाददाता। शिवपुर थाना क्षेत्र के गणेशपुर में दुर्घटना में घायल सिपाही की शुक्रवार की सुबह इलाज के दौरान मौत हो गई। मौत की सूचना मिलते ही हरहुआ चौकी पर तैनात साथी सिपाहियों के साथ ही वाराणसी ग्रामीण क्षेत्र के पुलिस महकमे में मायूसी छा गयी।

आजमगढ़ जिले के रानी की सराय निवासी हेड कांस्टेबल जय बहादुर यादव इसके पूर्व में जंसा थाने के रामेश्वर चौकी पर तैनात थे। इसी वर्ष 1 अक्टूबर को जंसा से बड़ागांव थाने पर स्थानांतरित किया गया था और वे हरहुआ चौकी पर तैनात थे। 17 नवंबर की रात्रि में करीब डेढ़ बजे कांस्टेबल अजय भान गिरी के साथ वे गस्त पर निकले थे और भेलखा गांव में गस्त करने के बाद वाराणसी-बाबतपुर हाइवे पर क्रासिंग न होने के चलते शिवपुर थाना क्षेत्र के गणेशपुर में सड़क पार करने के लिए गए और वहां हाइवे किनारे चाय की दुकान खुली होने पर वे चाय पीये। उसके बाद दोनों सिपाही बाइक पर बैठ रहे थे उसी समय तेज रफ्तार की ट्रक ने दोनों को धक्का मार दिया। उसके बाद सामने खड़ी शिवपुर थाने के पीआरबी को भी धक्का मारते हुए ट्रक चालक ट्रक लेकर फरार हो गया। घटना में घायल दोनों सिपाहियों को निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया गया था जहां उनका उपचार चल रहा था। उपचार के दौरान रविवार को अजय भान गिरी की मौत हो गयी थी, आज सुबह दूसरे जय बहादुर यादव की भी मौत हो गयी।

सीसीटीवी खंगाल रही पुलिस, ट्रक की नहीं हो सकी पहचान : इस मामले में घायल दोनों सिपाहियों के स्वजनों द्वारा शिवपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया गया था। मुकदमा दर्ज कर पुलिस जांच पड़ताल कर रही है। घटनास्थल के अगल बगल की दुकानों में लगे सीसीटीवी फुटेज से पता चल रहा है कि ट्रक की रफ्तार काफी अधिक थी। घटनास्थल के समीप चाय की दुकान घटना के वक्त खुली हुई थी जबकि दुकानदार ने अधिकारियों से झूठ बोला था कि दुकान बंद थी। शिवपुर पुलिस सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जांच कर रही है, अभी तक ट्रक की पहचान नहीं हो सकी है।

Edited By: Abhishek Sharma