वाराणसी, जागरण संवाददाता। जिले में अचानक की पहुंचे परिवहन मंत्री दयाशंकर सिंह ने शनिवार को मीडिया से बात कर सरकार की योजनाओं को साझा किया। उन्‍होंने कहा कि हमने शार्ट परमिट को पूरी तरह से ऑनलाइन कर दिया है। अब कोई भी व्यक्ति घर बैठे या साइबर कैफे से शार्ट परमिट प्राप्त कर सकता है। उसे कार्यालयों का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। जल्दी ही लांग परमिट को भी ऑनलाइन कर देंगे। हमारा प्रयास है कि टेक्नोलॉजी का पूरा प्रयोग लोगों को सुविधा देने के लिए और व्यवस्था को सुधारने के लिए किया जाए।

दयाशंकर सिंह शनिवार को सर्किट हाउस में मीडिया से बात कर रहे थे। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि हमने सरकार बनने के बाद 100 दिनों में 11 काम करने का निश्चय लिया था। इसमें से सात काम पूरे हो गए हैं। शेष चार काम भी एक सप्ताह में पूरे कर लिए जाएंगे। अपनी उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होंने कहा कि सबसे बड़ा काम 1997 के बाद की गाड़ियों का टैक्स मल्टीप्लाई कर लिया जा रहा था। जिसका परिणाम यह था कि जिन गाड़ियों के टैक्स कुछ सौ रुपये थे वह अब लाखों में टैक्स दे रहे थे।

ऐसी पांच लाख 28 हजार गाड़ियों का 916 करोड़ रूपया माफ कर दिया गया। परिवहन विभाग के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ। सभी परिवहन कार्यालयों को यह आदेश पहुंच चुका है। उन्हें कहा गया है कि तीन महीने के अंदर जो भी आवेदन करे उसे शतप्रतिशत छूट प्रदान की जाए। बताया कि आगामी दिनों में हम प्रदेश के 23 डिपो को अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनाने का लक्ष्य रखे हैं। इसके लिए अट्ठारह को चिन्हित कर लिया गया है। वाराणसी के डिपो के संबंध में उन्होंने कहा कि जल्दी ही टेंडर जारी कर दिया जाएगा। रोडवेज की बसों में यात्रियों को सुविधा के संबंध में उन्होंने कहा कि हमने बसों की खिड़की, दरवाजे और शीशे ठीक कराने के साथ ही सफाई आदि की व्यवस्था की है।

लोगों को अब कम पैसे में ज्यादा सुविधाएं मिल रही हैं। रोडवेज बस स्टेशनों पर महिलाओं के लिए शौचालय आदि की व्यवस्था को सुधारा गया है। सरकार अब ढाबों को अनुबंधित कर रही है जो ढाबा हमारे नार्म को पूरे करेंगे उन्हें अनुबंधित किया जाएगा। रोडवेज की बसें इन्हीं ढाबों पर ही रुकेंगी। मनमाने ढंग से बसों को रोके जाने की लोगों की शिकायत को दूर किया गया है। उदयपुर की घटना के संबंध में परिवहन मंत्री ने कहा कि घटना बहुत ही दुखद है। वहां की सरकार को कड़ाई से कार्यवाही करनी चाहिए। बताया कि वह शुक्रवार को एक व्यक्तिगत कार्यक्रम में शामिल होने के लिए वाराणसी आए थे। कुछ अधिकारियों के साथ विभाग में हो रहे कार्यों की समीक्षा की है। संगठन के लोगों से भी संपर्क किया है।

Edited By: Abhishek Sharma