वाराणसी, जेएनएन। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल की आनलाइन बैठक सोमवार को हुई। इसमें महानगर अध्यक्ष राकेश जैन ने कहा कि केंद्र सरकार कोरोना अवधि में बैंकों का ब्याज माफ करे। साथ ही जीएसटी में छूट एवं रिटर्न की तारीख को कम से कम एक महीना और बढ़ाने की मांग की।

राकेश जैन ने कहा कि इस साल कई व्यापारिक संगठनों ने स्वत: ही बंदी कर कोरोना की चेन तोड़ने में पहल की। उनकी यह पहल सराहनीय है। ऐसे व्यापारियों ने भामाशाह की भूमिका निभाई है और उन्हें भामाशाह पुरस्कार से सम्मानित किया जाना चाहिए। लंका व्यापार मंडल के महामंत्री राम भरत ओझा ने कहा कि व्यापारियों की मांग न्यायोचित हैं, जिस पर सरकार को ध्यान देना चाहिए।

सिगरा रथयात्रा व्यापार मंडल के सरंक्षण नारायण डीके ने कहा की वयापारी पिछले साल कोरोना अवधि से ही पूरी ईमानदारी से अपने कर्तव्य निभा रहे हैं। महमूरगंज व्यापार मंडल के अनिल जैन ने कहा कि कोई भी सरकार को वह सिर्फ व्यापरियों का शोषण ही करती है। विश्वनाथ गली व्यापार मंडल के पदाधिकारी राजू बाजोरिया, रमेश केसरी ने कहा कि चाहे किसी भी दल की सरकार हो व्यापारियों को राज्यसभा और विधानसभा में सीट आरक्षित नहीं करती।

इस मौके पर शास्त्री नगर व्यपार मंडल के सूरज कुशवाहा, चंदन, अर्दली व्यपार मंडल के पूर्व पदाधिकारी विनोद जायसवाल, रवि जायसवाल, अजय सिंह, अंकित अग्रवाल, गिरीश मिश्रा, संजय ओझा आदि मौजूद थे। व्यापारियों ने बैंक का ब्याज व जीएसटी में छूट मिलने से काफी राहत मिलेगी। मालवीय मार्किट व्यवसायी संघ के अध्यक्ष अभिषेक केसरी ने भी इस मांग को दोहराई।