वाराणसी, जेएनएन। मंगलवार को दिन भर बनारस की कई खबरों ने सुर्खियां बटोरीं। जिनमें लाशों का ट्रैफ‍िक जाम, मानसून समय पर नहीं, लंदन में जीवंत हुई काशी, बीएचयू में वाहनों पर रोक, काशी में केंद्रीय जलशक्ति मंत्री आदि खबरें सर्वाधिक चर्चा में रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर ए बनारस की प्रमुख और चर्चित खबरें।

काशी के महाश्‍मशान पर लाशों का ट्रैफ‍िक जाम, जानिए क्‍या है मामला

समूचे उत्‍तर भारत में इन दिनों पड़ रही भीषण गर्मी अौर लू लगने से मरने वालों की भी संख्‍या भी बहुत बढ़ गई है। बिहार, झारखंड, मध्‍य प्रदेश से सटा होने और नेपाल के करीब होने की वजह व मोक्ष की कामना से काशी के महाश्‍मशान पर शवों को लेकर आने वालों की भी इन दिनों काशी में काफी भीड़ हो जा रही है। बीते लगभग एक सप्‍ताह से महाश्‍मशान मणिकर्णिका घाट पर शवों की संख्‍या अचानक बढ़ गई है। दूर दराज से शवों को घाट पर लाने वालों की संख्‍या अचानक तेजी से बढ़ने की वजह से सोमवार से महाश्‍मशान मणिकर्णिका घाट पर शवों की कतार लग गई है। यहां पर शवदाह के लिए आने वाले लोगों को शवदाह के लिए लंबा इंतजार करना पड़ रहा है।

मानसून की होती मेहरबानी तो आज से पूर्वांचल में झूमकर बरसता पानी

पूर्वांचल में अमूमन 18 जून को मानसून आ जाता था मगर इस बार मानसून की लेट लतीफी से सप्‍ताह भर की देरी होने की उम्‍मीद है। सोमवार की देर शाम पूर्वांचल में बूंदाबांदी से जौनपुर व वाराणसी के कुछ इलाकों में तेज हवाओं से राहत भी मिली। इससे कई‍ दिनों से तल्‍ख गर्मी के बाद मंगलवार को लोगों को राहत भी मिली। बीते चौबीस घंटों में अधिकतम तापमान 41.5 डिग्री सेल्सियस और न्‍यूनतम पारा 29.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। अधिकतम और न्‍यूनतम तापमान सामान्‍य से तीन और दो डिग्री अधिक दर्ज किया गया। वहीं अार्द्रता अधिकतम 56 फीसद और न्‍यूनतम 28 फीसद दर्ज किया गया। इस लिहाज से पूर्वांचल में बूंदाबांदी और आसमान में बादलों की आवाजाही के बीच भी तापमान सामान्‍य से अधिक ही दर्ज किया गया है।

बीएचयू में हादसे के बाद कई तिराहाें पर तीन व चार चक्का वाहनों पर लगी रोक

बीएचयू विवि प्रशासन की ओर से कुछ प्रमुख जगहों पर आटो सहित भारी वाहनों का आवागमन बंद कर दिया गया है। कुछ दिनों पूर्व बीएचयू परिसर में फोर्ड इंडीवर वाहन से बाइक सवार दो छात्र टकराकर घायल हो गए थे। हादसे के बाद आक्रोशित छात्रों ने वाहन को आग के हवाले कर दिया था। इसके दो दिन बाद भी परिसर में मार्ग हादसे में छात्र के घायल हाेने के बाद प्रशासन ने सख्‍ती दिखाते हुए भारी वाहनों का प्रवेश प्रतिबंधित कर दिया है। इससे परिसर में आटो से आने वाले लोगाें को भी भीषण गर्मी में अपना सफर तय करने के लिए पैदल चलना पडा।  

लंदन में विदेशी छायाकार के तस्‍वीरों के जरिए जीवंत हो रही है काशी

काशी की प्राचीन परंपराओं की जीवंत तस्‍वीरें इन दिनों लंदन के ऑडली मेफेयर में अपनी रौनक बिखेर रही हैं। साउथ आड्रे स्‍ट्रीट स्थित नेहरु सेंटर में विदेशी फोटोग्राफर और डिप्‍लोमैटिक मार्गरिटा माव्रोमाइक्लिस की बनारस में भ्रमण के दौरान खींची गई तस्‍वीरें भारत और काशी में गंगा की संस्‍कृति और संस्‍कारों की कहानी बयां कर रही हैं। स्‍लोवाकिया के राजदूत रेहक ल्‍यूबोमीर ने इस आयोजन में शामिल हाेने के बाद आयोजन की जानकारी टवीटर पर शेयर की है।

काशी में गंगा निर्मलीकरण के प्रबंधन को परखने आ रहे केंद्रीय जलशक्ति मंत्री

केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल में पहली बार किसी केंद्रीय मंत्री का बनारस दौरा हो रहा है। केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत मंगलवार को बनारस पहुंच रहे हैं। वह अपने दौरे के समय गंगा निर्मलीकरण के प्रबंधन की हकीकत को जानेंगे और उसकी सार्थकता को परखेंगे। सबसे पहले वह दीनापुर स्थित 80 व 140 एमएलडी की स्थापित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण करेंगे इसके साथ ही एसटीपी की क्षमता के अनुसार कार्य करने की दक्षता का आकलन करेंगे।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप