वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने गुरुवार को सुर्खियां बटोरीं। जिनमें Flood in varanasi सड़क और गलियों में चल रही नाव, पूर्वांचल में बादलों का डेरा, बाढ़ पीडि़तों को राहत सामग्री बांटते समय दीवार सहित गिरे जिलाधिकारी, WAP-7 रेल इंजन का DLW वाराणसी में लोकार्पण, काशी मंथन की ओर से भारतीय लोकतंत्र और संसदीय प्रणाली पर चर्चा आदि खबरें सर्वाधिक चर्चा में रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

Flood in varanasi सड़क और गलियों में चल रही नाव, बाढ़ की दुश्‍वारियों में फंसे हैं पूर्वांचल के गांव

मध्‍य प्रदेश से यमुना के रास्‍ते गंगा होते हुए पूर्वांचल में आई बाढ़ की आफत लगातार आम जनता को दुश्‍वारी दे रही है। वाराणसी के निचले इलाकों में बसी कालोनियों में जहां बाढ़ की वजह से गलियाें और सड़कों पर नाव चलने लगी है वहीं राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ की टीम जुट गई है। बाढ़ से सर्वाधिक प्रभावित बलिया जिला है जहां दुबे छपरा रिंग बंधा टूटने के बाद डेढ़ सौ से अधिक गांवों में बाढ़ का पानी घुस चुका है।

पूर्वांचल में बादलों का डेरा, अधिकतम तापमान में आई गिरावट, जानिए कैसा रहेगा आपके शहर का मौसम

पूर्वांचल में दो दिनों से बादलों का डेरा जारी है, रह रहकर बूंदाबांदी के साथ ही तापमान में गिरावट लोगों को राहत भी दे रही है। मौसम का अमूमन यही रुख गुरुवार को भी जारी रहा। रात भर से रह रहकर हो रही बूंदाबांदी सुबह तक जारी रही। आसमान पूरी तरह बादलों के कब्‍जे में रहा और लगातार बारिश से तापमान में गिरावट के साथ ही ठंड में भी इजाफा हो गया।

बाढ़ पीडितों को राहत सामग्री बांटते समय दीवार सहित गिरे जिलाधिकारी, वीडियो वायरल

बाढ़ पीडितों को राहत सामग्री बांटने के दौरान डीएम सुरेंद्र सिंह गुरुवार की दोपहर दीवार के साथ ही आ गिरे जिसकी वजह से एनडीआरएफ के एक जवान सहित दो लोग चोटिल हाे गए। हादसे के दौरान जिलाधिकारी भी स्‍वयं दीवार के साथ बाढ़ के पानी में जा गिरे वहीं इस दौरान एनडीआरएफ के जवानों ने मदद कर सभी को तुरंत निकाल लिया। हादसे में किसी को गंभीर चोट न लगने से प्रशासन ने राहत की सांस ली है।

WAP-7 रेल इंजन का DLW वाराणसी में लोकार्पण, सबसे अाधुनिक इलेक्ट्रिक रेल इंजनों में शामिल 

रेल राज्यमंत्री सुरेश सी अंगडी ने डीरेका (DLW) द्वारा निर्मित 275 वें विद्युत रेल इंजन WAP-7 का गुरुवार की सुबह लोकार्पण किया। डीरेका (डीजल रेल कारखाना) में Wap-7 पैसेंजर मोड का 6000 एचपी का लोको है। यह 25000 वोल्ट ओवरहेड की सप्लाई लेकर संचालित होता है। पूरी तरह इलेक्ट्रिक होने की वजह से इसमें डीजल की आवश्यकता नहीं पड़ती है। इससे पर्यावरण प्रदूषण रोकने में भी काफी मदद मिलेगी।

काशी मंथन की ओर से भारतीय लोकतंत्र और संसदीय प्रणाली विषयक व्याख्यान आयोजित 

काशी हिंदू विश्वविद्यालय स्थित मालवीय सभागार में बुधवार को काशी मंथन की ओर से 'भारतीय लोकतंत्र और संसदीय प्रणाली' विषयक व्याख्यान आयोजित हुआ। वक्ताओं ने छात्र-छात्राओं को संसदीय कार्यप्रणाली से रूबरू कराते हुए भविष्य की चुनौतियों के मद्देनजर स्वयं को तैयार रखने का आह्वान किया।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस