वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने सोमवार यानी 28 सितंबर को सुर्खियां बटोरीं जिनमें ज्ञानवापी मस्जिद मामले में बहस पूरी, इनामिया अभियुक्त रवि प्रताप गिरफ्तार, विद्यापीठ में फिर खुलेगी वेबसाइट, नदियों में दोबारा उफान की सौगात, सीएचएस प्रवेश परीक्षा में लॉटरी आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम छह बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

काशी विश्‍वनाथ मंदिर और ज्ञानवापी मस्जिद मामले में बहस पूरी, तीन अक्टूबर को सुनाया जाएगा फैसला

ज्ञानवापी मस्जिद मामले में सोमवार को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अधिवक्ता की ओर से दाखिल याचिका पर बहस पूरी हो गई। उत्तर प्रदेश सुन्नी वक्फ बोर्ड के अधिवक्ता ने सिविल जज (सीनियर डिवीजन फास्टट्रैक) के निर्णय के खिलाफ जिला जज उमेशचंद्र शर्मा की अदालत में निगरानी याचिका दायर करने में विलंब के लिए क्षमा मांगी। बोर्ड के अधिवक्ता के प्रार्थना पत्र पर वादमित्र ने आपत्ति जताया। अदालत ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद निर्णय के लिए तीन अक्टूबर की तिथि मुकर्रर कर दिया। अंजुमन इंतजामिया मसाजिद तथा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने मुकदमे की सुनवाई करने के सिविल जज (सीनियर डिवीजन फास्टट्रैक) के क्षेत्राधिकार को लेकर चुनौती दी थी। सिविल जज ने 25 फरवरी 2020 को अंजुमन इंतजामिया मसाजिद तथा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की चुनौती को खारिज कर दिया था।

चौकाघाट दोहरे हत्याकांड में शामिल 25 हजार का इनामिया अभियुक्त रवि प्रताप गिरफ्तार

चौकाघाट दोहरे हत्याकाण्ड में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित पाठक, पुलिस अधीक्षक नगर व पुलिस अधीक्षक अपराध के निर्देशन में व क्षेत्राधिकारी चेतगंज के नेतृत्व में क्राइम ब्रान्च व थाना जैतपुरा की संयुक्त टीम गठित की गयी थी। सनसनीखेज घटना में शामिल अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए सोमवार को प्रभारी निरीक्षक जैतपुरा शशिभूषण राय मय टीम और प्रभारी क्राइम ब्रान्च अश्वनी पाण्डेय मय टीम चौकाघाट पर आपस में विचार विमर्श कर रहे थे। इतने में मुखबिर से सूचना मिली कि चौकाघाट दोहरे हत्याकाण्ड में शामिल अभियुक्त रवि प्रताप सिंह पुत्र अवधेश सिंह निवासी जियासड़ थाना मेहनगर जनपद आजमगढ, जिस पर 25000 रुपये का इनाम घोषित है, अपने वर्तमान निवास स्थान अशोक विहार कालोनी फेज-1 थाना जैतपुरा जनपद वाराणसी पर मौजूद है।

महात्‍मा गांधी काशी विद्यापीठ में एक बार फिर खुलेगी वेबसाइट, मिलेगा आवेदन करने का मौका

बीएचयू और यूपी कालेज की प्रवेश परीक्षाएं हो चुकी हैं। वहीं महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के दाखिले के लिए प्रवेश परीक्षा चार अक्टूबर से शुरू हो रही है। पहले चरण में बीए, बीकाम (अानर्स), बीए- एलएलबी की प्रवेश परीक्षा है। वहीं छात्रहित में विद्यापीठ प्रशासन ने दो दिनों के लिए प्रवेश परीक्षा की वेबसाइट एक बार फिर खोलने का निर्णय लिया है। ऐसे में किन्हीं कारणवश जो अभ्यर्थी अब तक आवेदन नहीं कर सके हैं वह 28 व 29 सितंबर को आवेदन कर सकते हैं। स्नातक, स्नातकोत्तर, व्यावसायिक, एमफिल, डिप्लोमा के 62 पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए अब तक 31000 अभ्यर्थी आवेदन कर चुके हैं। अब तक सर्वाधिक आवेदन बीए, बीकाम, बीएससी मैथ, एमकाम, विधि, एमएसडब्ल्यू सहित कई पाठ्यक्रम आए हैं।

पूर्वांचल में बरसात ने नदियों को दोबारा दी उफान की सौगात, तटवर्ती इलाकों में बढ़ी समस्‍या

पूर्वांचल में बीते सप्‍ताह रह रहकर हुई बरसात के बाद से ही प्रमुख नदी और नालों के साथ ही छोटी नदियों और बांधों में दोबारा बढ़ाव की स्थिति है। जिन निचले इलाकों से बाढ़ का पानी निकल गया था वहां बाढ़ का पानी बारिश के साथ दोबारा असर दिखा रहा है। निचले इलाकों में धान की फसल तो पहले ही बाढ़ की भेंट चढ़ चुकी अब पानी उतरने के बाद जिन किसानों ने सब्‍जी की खेती की थी वह पौधे भी अब बारिश और बाढ़ में डूबकर खत्‍म हो गए। किसानों के अनुसार उलट पलट कर बाढ़ और बारिश से सर्वाधिक नुकसान खेती को हुआ है जबकि निचले इलाकों में हरे चारे का संकट अब भी बरकरार है। वहीं गंगा और सरयू नदी की तल्‍ख होती लहरें तटवर्ती इलाकों में कटान कर रही हैं। इससे खेती योग्‍य जमीनें नदियों की भेंट चढ़ रही हैं। सोमवार की सुबह केंद्रीय जल आयोग की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार बलिया में सरयू नदी एक बार फ‍िर से खतरा बिंदु से ऊपर पहुंच गई है।

 

 

सीएचएस प्रवेश परीक्षा में लॉटरी सिस्टम का विरोध कर कहा जाएंगे न्यायालय

सीएचएस में लॉटरी सिस्टम के विरोध में छात्रों ने बीएचयू के केंद्रीय कार्यालय पर तालाबंदी करके विरोध प्रदर्शन किया। छात्रों ने इस बीच कुलपति मुर्दाबाद और दलाली छोड़ो के नारे लगाते हुए मांग किया कि जब प्रवेश परीक्षा के नाम पर छात्रों ने फॉर्म भरा है और फीस जमा किया है तो छात्रों को उनको अधिकार से वंचित करना कतई न्यायसंगत नहीं है। सेंट्रल हिंदू स्कूल में भी प्रवेश परीक्षा कराई जाए जिससे शिक्षा में पारदर्शिता बनी रहे। काफी देर तक चले प्रदर्शन के बाद छात्रों ने कुलपति प्रो. राकेश भटनागर को ज्ञापन भी सौंपा। ज्ञापन में लॉटरी सिस्टम बदलकर प्रवेश परीक्षा कराने की बात कहते हुए छात्रों ने अल्टीमेटम दिया कि यदि हमारी यी मांगें न मानी गईं तो जल्द न्यायालय की शरण में जाएंगे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस