वाराणसी, जेएनएन। बनारस शहर की कई खबरों ने शनिवार यानी 27 मार्च को सुर्खियां बटोरींं जिनमें कार हादसे में तीन लोग गिरफ्तार, विमान हवा में एक घंटे लगाता रहा चक्‍कर‚ पुलिस कमिश्नर ने संभाला कार्यभार, सपा ने रंगमंच दिवस पर खोला मोर्चा, विद्यापीठ के कर्मचारी धरने पर बैठे आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम चार बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

वाराणसी में नाबालिग को कार चलाने के लिए देना पड़ा भारी, हादसे के बाद हिरासत में परिवार के तीन लोग

कार से कुचलकर अबोध की शुक्रवार की रात हुई मौत के मामले में नाबालिग चालक की गिरफ्तारी की मांग को लेकर शनिवार को चक्काजाम किया गया। इसके बाद आक्रोशित लोगों को समझाने में पुलिस को काफी मशक्‍कत करनी पड़ी। इसके बाद पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे लोगों को समझाते हुए आवश्‍यक कार्रवाई करने का आश्‍वासन देकर प्रदर्शन को खत्‍म कराया। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए लापरवाही से कार चलाकर बच्‍ची की जान लेने वाले नाबालिक चालक के परिवार से तीन लोगों को हिरासत में ले लिया गया। वरुणा पुल निवासी डेढ़ साल की बच्ची की कार से कुचलकर हुई मौत के मामले में अब तक नाबालिग चालक के खिलाफ कोई कार्रवाई न होने से आक्रोशित परिवार व आसपास के लोगों ने शनिवार की दोपहर वरुणा पुल पर चक्काजाम कर दिया। सभी इस मामले में आरोपित नाबालिग चालक को गिरफ्तार करने की मांग कर रहे थे।बाइक मैकेनिक मोहम्मद आजाद की पुत्री अर्शिया शुक्रवार की रात शास्त्री घाट पर खेल रही थी। इसी बीच वहीं के रहने वाले 16 वर्षीय किशोर कार चालक ने बच्ची को कुचल दिया, जिससे उसकी मौत हो गई।

मलेशिया से काठमांडू पहुंचा विमान हवा में एक घंटे लगाता रहा चक्‍कर‚ आखिरकार वाराणसी डायवर्ट

मलेशिया के कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से 117 यात्रियों को लेकर काठमांडू पहुंचा विमान खराब मौसम के चलते काठमांडू हवाई अड्डे पर उतर नहीं सका। हवा में एक घंटे तक चक्कर लगाने के बाद भी वहां का मौसम सामान्य नहीं हो सका जिसके चलते विमान को वाराणसी एयरपोर्ट पर उतरने के लिए डायवर्ट कर दिया गया। जानकारी के अनुसार हिमालया एयरलाइन का विमान एच9891 शनिवार को अल सुबह 3.30 बजे 117 यात्रियों को लेकर कुआलालंपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से काठमांडू के लिए उड़ा था। विमान करीब 7.10 बजे काठमांडू हवाई क्षेत्र में पहुंच गया‚ लेकिन वहां मौसम खराब था और दृश्यता कम होने के चलते एटीसी द्वारा विमान को उतरने की इजाजत नहीं दी गई। इस दौरान विमान करीब एक घंटे तक हवा में चक्कर लगाता रहा। दृश्यता सामान्य न होने की दशा में विमान को 8.10 बजे डायवर्ट कर वाराणसी एयरपोर्ट पर भेजा गया।

वाराणसी के पहले पुलिस कमिश्नर ने संभाला कार्यभार, काल भैरव और बाबा का लिया आशीर्वाद

नवागत पुलिस कमिश्नर ए. सतीश गणेश ने शनिवार को काल भैरव व बाबा विश्वनाथ का आशीर्वाद लेकर कार्य भर ग्रहण किया। पदभार संभालने से पहले पुलिस कमिश्नर ने बाबा कालभैरव और काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन किया। काशी विश्वनाथ मंदिर में भोग आरती के बाद 12:25 बजे वह गर्भगृह पहुंचे। मंदिर के अर्चक टेक नारायण ने षोडशोपचार पूजन करवाया। दर्शन पूजन करने के बाद ए. सतीश गणेश ने वाराणसी के पुलिस कमिश्नर पद की जिम्मेदारी संभाली। 1996 बैच के आइपीएस ए. सतीश गणेश अब तक आगरा में एडीजी/आइजी रेंज के पद पर तैनात थे। कंप्यूटर साइंस से बैचलर ऑफ इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले ए. सतीश गणेश मूल रूप से बिलासपुर के रहने वाले हैं। इससे पहले वर्ष 2012 में ए. सतीश गणेश वाराणसी में डीआइजी रेंज के पद पर तैनात रह चुके हैं। ए. सतीश गणेश की गिनती उत्तर प्रदेश के तेजतर्रार, ईमानदार और समय के पाबंद पुलिस अफसरों में की जाती है।

कलाकारों के मुद्दों के साथ सपा ने रंगमंच दिवस पर खोला मोर्चा, कलाकार घेरा कार्यक्रम का आयोजन

विधानसभा चुनाव की तैयारियों की ओर चरणबद्ध तरीके से आगे बढ़ रही समाजवादी पार्टी अब कलाकारों के मुद्दे पर भी सरकार को घेरा। संगीत-कला के शहर में फनकारों को सपा शासन में दिए जा चुके यश भारती सम्मान की याद दिलाई। इसके तहत मिलने वाली पेंशन का स्मरण कराया और सरकार के विरोध में सीधे तौर पर सामने लाया गया। उनके जरिए पूर्व में सपा सरकार द्वारा किए गए कार्यों को भी लोगों तक पहुंचाने का प्रयास किया। इसमें यश भारती सम्मान व कलाकारों के लिए पेंशन का प्रविधान मुख्य मुद्दा तो रहा ही, इनके जरिए पार्टी अपनी बातों को जन जन तक पहुंचाने का प्रयास भी किया। समाजवादी पार्टी पिछले कुछ महीनों से पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देशानुसार समाज के अलग-अलग वर्गों के साथ घेरा कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। इस कड़ी में शनिवार को कलाकारों को शामिल करते हुए इसके कलाकार घेरा का कार्यक्रम का नाम दिया गया है।

महात्‍मा गांधी काशी विद्यापीठ के कर्मचारी धरने पर बैठे, नारेबाजी कर किया प्रदर्शन

नियुक्ति तिथि से लाभ देने की मांग की मांग को लेकर महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कर्मचारी शनिवार को परिसर स्थित पंत.प्रशासनिक भवन में धरने पर बैठे हुए है। एक ओर जहां कार्य परिषद की बैठक चल रही है। दूसरी ओर कर्मचारी नारेबाजी व प्रदर्शन कर रहे हैं। कर्मचारियों के आक्रोश को देखते हुए परिसर में पुलिस फोर्स भी बुला ली गई। विद्यापीठ में 45 कर्मचारियों का समायोजन वर्ष 2005 के बाद हुआ था, जबकि अस्थायी तौर पर उनकी नियुक्ति दशकों पहले हुई थी। इसमें कई कर्मचारी फैसले भी हैं। वहीं वर्ष 2005 के बाद समायोजन होने के कारण इन कर्मचारियों को पेंशन का लाभ नहीं मिल रहा है। वहीं कर्मचारी नियुक्ति तिथि सेवा से जोड़ने की मांग कर रहे हैं ताकि उन्हें भी पेंशन का लाभ मिल सके, जबकि इस मामले में विसंगति बनी हुई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप