वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। बनारस शहर की कई खबरों ने शनिवार को चर्चा बटोरीं जिनमें आशनाई में परिचालक की हत्‍या, मोतियाबिंद का आपरेशन, वाराणसी में चार कोरोना मरीज, गंगा के रास्ते काशी दर्शन, गंगा किनारे पांच लाख दीये आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

वाराणसी में आशनाई के चलते बस परिचालक की हुई थी हत्‍या, हिस्ट्रीशीटर हत्यारा गिरफ्तार

गौर गांव निवासी बस परिचालक प्रकाशनाथ उर्फ सुग्गन मिश्रा की आशनाई के चक्कर में मफलर से गला कस कर हत्या करने के बाद शव को पुआल की ढेर में रख जलाने वाला हत्यारा सुनील उर्फ बृजेश पटेल शुक्रवार की रात खजुरी चट्टी (साधु कुटिया) के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। हत्यारा थाने का 46-ए हिस्ट्रीशीटर हैं।बस परिचालक को शराब पिलाने के बाद मफलर से गला कस हत्या कर शव को पुआल की ढेर में रख आग लगा दिया था।हत्यारे के पास से परिचालक का गायब मोबाइल व पहचान पत्र भी बरामद हुआ हैं। मिर्जामुराद थानाध्यक्ष संजीत बहादुर सिंह ने बताया कि मिर्जामुराद क्षेत्र के ही गनेशपुर गांव निवासी हिस्ट्रीशीटर सुनील उर्फ बृजेश पटेल का कोसड़ा (चक्रपानपुर) गांव निवासी शादीशुदा युवती से प्रेम-प्रसंग का चक्कर चल रहा था। युवती के घर ही गौर गांव निवासी बस परिचालक प्रकाशनाथ उर्फ सुग्गन मिश्रा का भी आना जाना रहा। परिचालक का युवती से नजदीकी बढाना व मिलकर बातचीत करना हिस्ट्रीशीटर को नागवार लग रहा था।

वाराणसी में अगले एक माह में एक लाख आठ हजार लोगों के मोतियाबिंद का होगा आपरेशन

श्री रणछोड़दास जी बापू चैरिटेबल आई हास्पिटल की ओर से शनिवार को रामनगर स्थित पीएसी कमांड हाउस के पास नेत्र शिविर का शुभारंभ किया गया। मार्च माह तक चलने वाले शिविर में एक लाख आठ हजार लोगों के मोतियाबिंद का आपरेशन करने का लक्ष्य रखा गया है। शिविर का शुभारंभ प्रदेश उपाध्यक्ष भाजपा व एमएलसी लक्ष्मण आचार्य व क्षेत्रीय विधायक सौरभ श्रीवास्तव ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। इस मौके पर एमएलसी ने कहा कि लोगों के अंधकारमय जीवन को रोशनी देना सबसे बड़ा पुण्य कार्य है। उन्होंने सभी लोगों को कुछ न कुछ सामाजिक कार्य करने के लिए प्रेरित किया। कहा कि आंखें ईश्वर का दिया अनमोल तोहफा है। जिसकी मदद से हम खूबसूरत दुनिया देख पाते हैं। कई कारणों से लोग आंखों की बीमारी के शिकार होते हैं, परंतु इससे निराश होने की आवश्यकता नहीं है। लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि संस्था लोगों को मोतियाबिंद आपरेशन कर लाभ प्रदान कर रही है। उन्होंने कहा कि गरीबों को नेत्र ज्योति प्रदान करना सराहनीय प्रयास है।

वाराणसी में चार कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद बढ़ी चिंता, ओमिक्रान वैरिएंट की भी होगी जांच

दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में आए कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन को लेकर जिले के लोगों में दहशत बढ़ ही रही थी कि शुक्रवार को शहर में कोरोना के एक रोगी पाए जाने पर प्रशासन के माथे पर भी बल आ गया है। स्वास्थ्य विभाग ने इसे लेकर सतर्कता बढ़ा दी है। बावजूद इसके रोगी पाए जाने पर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। बताया जा रहा है कि कैंटोमेंट नदेसर निवासी 33 वर्षीय महिला विदेश से सफर करके आई है। हालांकि स्वास्थ्य विभाग इसकी पुष्टि नहीं कर रहा है। पूर्वांचल में अभी नए वैरिएंट की जांच या जिनोम सिंक्वेंसी की व्यवस्था नहीं है। ऐसे में आरटी-पीसीआर से ही उक्त महिला कोरोना पाजिटिव पाई गई है। ओमिक्रोन की पुष्टि के लिए पुणे की लैब में हो सकती है। सीएमओ डा. राहुल सिंह ने बताया कि कोरोना के नए वैरिएंट को देखते हुए जिले में जितने में भी आक्सीजन प्लांट लगे हैं उसे प्रतिदिन एक घंटे चलाने का निर्देश दिया गया है।

जलयान से बाबा दरबार तक जाएंगे पीएम नरेन्‍द्र मोदी, सुबह लोकार्पण तो शाम को गंगा के रास्ते काशी दर्शन

श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को काशी पहुंच जाएंगे। सुबह के वक्त उनका हेलीकाप्टर संपूर्णानंद खेल मैदान में उतरेगा। धाम लोकार्पण के लिए वह गंगा के रास्ते जलयान से जाएंगे। इसके लिए खिड़किया घाट के साथ ही ललिता घाट पर जेटी निर्माण को अंतिम रूप दिया जा रहा है। जलयान से ही वह असि घाट से बरेका जाएंगे जहां रात्रि प्रवास होगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ऐतिहासिक कार्य के लोकार्पण से पहले काशी के कोतवाल कालभैरव से अनुमति लेना नहीं भूल सकते हैं। काशी की रेखांकित परंपरा व धार्मिक मान्यता पर चलते हुए सबसे पहले बाबा कालभैरव का दर्शन-पूजन करेंगे। फिर सड़क मार्ग से खिड़किया घाट रवाना होंगे जहां से जलयान पर सवार होकर बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करने पहुंचेंगे। इस दौरान देश भर से आए मुख्यमंत्री भी साथ रहेंगे। सभी शंकराचार्य, ज्योर्तिलिंग से आए महंत व धर्माचार्य भी मौजूद रहेंगे। केंद्र व प्रदेश सरकार के मंत्री भी उपस्थित होंगे। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी शाम को भी बाबा श्रीकाशी विश्वनाथ धाम तक पहुंचेंगे।

श्रीकाशी विश्वनाथधाम कारिडोर के लोकार्पण के दिन गंगा किनारे जलेंगे पांच लाख दीये

श्रीकाशी विश्वनाथधाम के लोकार्पण के अवसर पर देवदीपावली की तर्ज पर गंगा किनारे पांच लाख दीपक जलेंगे। लेजर शो, आतिशबाजी के साथ रोशनी से समस्त मंदिर, शहर की गलियां, चौराहे व अन्य सार्वजनिक स्थान जगमग होंगे। इसके लिए तैयारियां वाराणसी में शुरू हो चुकी हैं। दूसरी ओर काशी पर्यटकों से पटने लगी है। प्रधानमंत्री के दो दिवसीय यात्रा (13 व 14 दिसंबर) के कार्यक्रम लगभग फाइनल हो गए हैं। हालांकि प्रोटोकाल अभी जारी नहीं हुआ है लेकिन अधिकारियों का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 13 दिसंबर को श्रीकाशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण करेंगे। लोकार्पण के बाद शाम को बोट से गंगा की सैर व गंगा आरती देखेंगे। इस दौरान भाजपा शासित प्रदेशों के मुख्यमंत्री भी मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री अगले दिन मुख्यमंत्रियों व जनप्रतिनिधियों से बातचीत करेंगे। इसके बाद स्वर्वेद मंदिर, उमरहा व सीएनजी प्लांट, शहंशाहपुर जाएंगे। प्रधानमंत्री 14 दिसंबर को दोपहर बाद यहां से प्रस्थान करेंगे।

Edited By: Abhishek Sharma