वाराणसी, इंटरनेट डेस्‍क। बनारस शहर की कई खबरों ने शुक्रवार को चर्चा बटोरीं जिनमें शतरुद्र प्रकाश भाजपा में शामिल, पारा बीस डिग्री से कम, दोगुना हुए कोरोना संक्रमित, चाइनीज मंझे का विरोध, आशाओं को मिला स्‍मार्टफोन आदि प्रमुख खबरें रहीं। जानिए शाम पांच बजे तक की शहर-ए-बनारस की पांच प्रमुख और चर्चित खबरें।

वाराणसी में समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका, सपा नेता शतरुद्र प्रकाश भाजपा में शामिल

समाजवादी पार्टी के विधान परिषद सदस्य शतरुद्र प्रकाश आज भाजपा में शामिल हो गए। भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, भाजपा की ज्वाइनिंग कमेटी के अध्यक्ष डा. लक्ष्मीकांत बाजपेई, सदस्य दयाशंकर सिंह और मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि पहले जिलों की पहचान माफिया से होती थी। उन्होंने काशी विश्वनाथ धाम के सुंदरीकरण के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया। वर्ष 1974 से वाराणसी में चार बार विधायक और मुलायम सिंह यादव की सरकार में बतौर मंत्री भी शतरुद्र प्रकाश शामिल रह चुके हैं। वहीं पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में विधानसभा चुनाव के पूर्व समाजवादी पार्टी से एक बड़े चेहरे को भाजपा में शामिल करने से काशी क्षेत्र में सपा के सामने बड़ी चुनौती आ गई है। अभी तक समाजवादी पार्टी के पूर्वांचल से एक बड़े चेहरे के तौर पर एमएलसी शतरुद्र प्रकाश सरकार के लिए बड़ी चुनौती बने हुए थे।

वाराणसी में अधिकतम पारा पहली बार आया बीस डिग्री से कम, सात जनवरी तक आएगा तीव्र कोल्ड फ्रंट

कोहरे की चादर और बादलों का लिहाफ ओढ़े आई शुक्रवार की सुबह से पड़ रही कड़ाके की ठंड ने लोगों को घरों में दुबकने और अलाव से चिपकने को विवश कर दिया है। तीन दिन पूर्व हुई 7.8 मिली बारिश के बाद लुढ़कते पारे ने ठंड को काफी बढ़ा दिया है। हालांकि इस शरद ऋतु में अब तक का सबसे ठंडा दिन रहे गुरुवार की अपेक्षा तापमान हल्का सा बढ़ने की उम्मीद जरूर है मगर दोपहर बाद पश्चिमोत्तर से चलने वाली हवाएं मौसम को और सर्द बनाएंगी, इसकी भी आशंका प्रबल है। फिलहाल लगभग तीन किमी प्रति घंटा की चाल से झुरक रही पछुआ हवा लगभग शांत ही है, बावजूद इसके सुबह नौ बजे तक तापमान 14 डिग्री सेल्सियस पर है, जिसके अधिकतम बढ़कर 19 तक जाने की संभावना है। गुरुवार को अधिकतम तापमान गिरकर 17.5 मिली पर पहुंच गया था। मौसम विज्ञानियों का अनुमान है कि अब बारिश तो नहीं होगी लेकिन शुक्रवार को भी शायद ही बदली से छुटकारा मिले। आसमान में छाए बादलों और हवा की अत्यंत धीमी गति के चलते धूप निकलने के आसार बहुत कम हैं। यदि धूप कुछ क्षणों के लिए निकली भी, तो उसका कोई बहुत असर नहीं होगा।

वाराणसी में सप्‍ताह भर में दोगुना हो गए कोरोना संक्रमित, लखनऊ में हो रही ओमिक्रान वैरिएंट की जांच

जिले में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़कर दो गुना हो चुके हैं। माना जा रहा है कि जल्‍द ही अब मामलों को नियंत्रित नहीं किया गया तो नए साल में कोरोना संक्रमण की चुनौती और भी बढ़ जाएगी। कोरोना के बढ़ते मामले के बीच ओमिक्रोन को लेकर भी लोगों में दहशत है। इसकी पुष्टि के लिए सभी सैंपल लखनऊ भेजा गए हैं। गुरुवार को एक साथ आठ नए मामले के साथ कुछ संक्रमितों की संख्या 16 हो चुकी है। इस लिहाज से जिले में कोरोना संक्रमण के मामले सप्‍ताह भर में दो गुना हो चुके हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच वैक्‍सीनेशन ही एकमात्र बचाव सामने आया है। ऐसे में अगर आप अपने व अपनों को कोरोना के कहर से बचाना चाहते हैं तो तत्काल वैक्सीन लगवा लीजिए। वरना आप कभी भी इसकी चपेट में आकर खुद के साथ अपने परिवार के लिए भी मुसीबत मोल लेंगे। आप की सुविधा के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जिले में 521 केंद्र भी बनाए हैं। जहां पर जाकर कोरोना का टीका लगवा सकते हैं।


वाराणसी में बोलींं बहनें - 'भइया मेरे राखी के बंधन को निभाना, चाइनीज मंझे से पतंग न उड़ाना'

भाई की कलाई पर रक्षा के धागे बांधकर भाई की रक्षा का संकल्प लेने वाली बहनों ने अपने भाइयों को चाइना के मंझे का इस्तेमाल ना करने के लिए जागरूक करने का संकल्प लिया और सामूहिक रूप से भाइयों से अपील की कि पतंग उड़ाने के शौक को जानलेवा ना बनाएं, क्योंकि चाइना निर्मित मंझे से कितनों का गला कट चुका है। दूसरी ओर अब तक ना जाने कितने मौत के मुंह में जा चुके हैं। इस दौरान बहनों ने भाइयों से वचन मांगा कि - भइया मेरे राखी के बंधन को निभाना, चाइनीज मंझे से पतंग न उड़ाना'। सामाजिक संस्था सुबह-ए-बनारस क्लब के बैनर तले संस्था के अध्यक्ष मुकेश जायसवाल, लक्ष्मी हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक समाजसेवी डॉ. अशोक कुमार राय, महासचिव राजन सोनी एवं कालेज की प्रधानाचार्या डॉ. प्रियंका तिवारी के नेतृत्व में कालेज की छात्राओं ने हाथ मे पतंग व बैनर लेकर लोगों की जान पर बन आई कातिल चाइनीज मंझे का भइया मेरे याद रखना चाइनीज मंझे का बहिष्कार करना।


वाराणसी में स्मार्ट फोन पाकर खिले आशा कार्यकर्ताओं के चेहरे, अब हाइटेक होगा काम

आशा कार्यकर्ता विभा दीक्षित, पिंकी देवी, मीरा शर्मा, पम्मी तिवारी शनिवार को बहुत खुश थीं। हो भी क्यों न। उनके हाथों में नया स्मार्टफोन जो था। उन्हें यह फोन सरकार से मिला है। इनके साथ दर्जनों आशाएं गदगद है। उनके चेहरे खिल गए है। कारण कि, आशा कार्यकर्ताओं को भी हाईटेक बनाने के लिए प्रदेश की योगी सरकार ने एंड्रायड स्मार्ट फोन प्रदान किया है। इसके बाद वे भी तकनीक से जुड़कर अपना कार्य आसान कर सकेंगी। शासन ने अब स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं को हाइटेक बनाने का मन बना लिया है। डिजिटलीकरण को देखते हुए जिले की आशा कार्यकर्ताओं को एंड्रायड मोबाइल फोन प्रदान किया गया। इस क्रम में शुक्रवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लखनऊ से प्रदेशभर की चयनित आशाओं को एंड्रायड फोन वितरित किए। इसके बाद वाराणसी सहित अन्य जनपदों में आशा कार्यकर्ताओं को एंड्रायड फोन वितरित किया गया।

Edited By: Abhishek Sharma