वाराणसी (जेएनएन) । अगर आप गूगल मैप पर देखकर टॉयलेट जाने की सोच रहे हैं तो आप गच्चा खा जाएंगे। जरुरी नहीं कि मैप पर जो दिखाई पड़ रहा है वह सच भी हो। यकीन न आए तो जरा नक्खी घाट पर अलईपुर रोड पर 10 सीटर शौचालय की लोकेशन चेक करके देख लीजिए। आपको पता चलेगा कि मैप की हकीकत क्या है। इस परेशानी से इस समय पर्यटक जूझ रहे हैं।

दरअसल जायका की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस इलाके में दस सीट का सामुदायिक शौचालय है। परियोजना के तहत अलईपुर रोड स्थित टाटा मोटर्स के पास नक्खीघाट मलिन बस्ती में सामुदायिक शौचालय का निर्माण वर्ष 2016-17 में पूरा हुआ और वर्तमान में वह संचालन में भी है लेकिन मौके पर शौचालय गायब है। स्थानीय लोगों की यही मांग है कि वहां भी लोगों की सुविधा के लिए शौचालय बने लेकिन सुनने वाले कोई जिम्मेदार नहीं है। यह शौचालय मौके पर न होने के बावजूद गूगल मैप पर दर्ज है।

नक्खीघाट मलिन बस्ती के लोग आज भी रेलवे लाइन के किनारे खुले में शौच जाने को मजबूर हैं। करीब 55-60 घरों की आबादी वाली इस बस्ती में 8-10 घरों में ही शौचालय बने हैं, बाकी नगर निगम के घोषित ओडीएफ वार्ड को मुंह चिढ़ा रहे हैं। उधर नक्खीघाट के लोग इस बात से बेहद निराश हैं कि अभी तक उन्हें शौचालय की सुविधा नहीं मिल पाई है। केवल गूगल पर ही शौचालय नजर आता है लेकिन हर दिन लोगों को खुले में शौच जाने की दुश्वारी से गुजरना पड़ रहा है। ा