आजमगढ़, जेएनएन। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की निर्वाचन नामावली का वृहद पुनरीक्षण अभियान एक अक्टूबर से चल रहा है। एसडीएम पंकज कुमार श्रीवास्तव ने शनिवार को घर-घर सर्वे की समीक्षा की। तीन विकास खंड के 32 बीएलओ(बूथ लेवल अफसर) की प्रगति बहुत ही धीमी रही, जिस पर कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए स्पष्टीकरण मांगा गया है। तीन दिन के अंदर सुधार न होने पर विभागीय कार्रवाई की संस्तुति की जाएगी। सुपरवाइजर, सेक्टर और नोडल अफसर को निर्देश दिए कि बीएलओ के कार्यों का खुद निरीक्षण करें।

जिनसे जवाब तलब किया गया है, उसमें ब्लाक ठेकमा के की ग्राम पंचायत खरगीपुर की मधुबाला सिंह, ओम प्रकाश भोपालपुर, पारा-मदन लाल, अहिरौली-ममता देवी, उमरीकला-वेद प्रकाश मिश्रा, भड़सारी-सुनीता सिंह और गोमाडिह की निरुपमा सिंह शामिल हैं। जबकि ब्लाक पल्हना के रसूलपुर गांव की बीएलओ उषा देवी, ताहिरपुर-सुधीर कुमार, नियमताबाद-सरिता देवी, पकड़ीकला-अर्चना, रसूलपुर-उषा देवी व बसही की संजू सिंह से जवाब मांगा गया है। इसी प्रकार तरवां ब्लाक की ग्राम पंचायत कोसड़ा की बीएलओ हेमलता सिंह, मठ बैजनाथपुर-ममता पांडेय, बनगांव-रंजीत यादव, जियापुर-मनोज कुमार, कोसड़ा-अरविंद कुमार, जमीनसकत-मालती देवी, लालमऊ-कुसुम देवी और तरवां के बीएलओ गिरीश चंद और ब्लक लालगंज के पकड़ी खुर्द की बीएलओ शशि कला, कंजहित-अनिल कुमार यादव, कटौली खुर्द-चंद्रेश राम, करिया गोपालपुर-मनोज कुमार, रामपुर कथरवा-अंबिका प्रसाद, सिकरौरा-जय सिंह, इस्माइलपुर बरहिर-रत्नेश कुमार, ब्यौवरा-अनीता विश्वकर्मा, बनारपुर सलहरा-गजाला कौशर, बड़ागांव-आलोक कुमार, जेहतमंदपुर-उमा मौर्य, रेतवा चंद्रभानपुर की सुषमा राय की भी प्रगति खराब है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021