सोनभद्र, जेएनएन। बीजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत सिंदूर के टोला धरतीडाड़ स्थित मोटकी पहाड़ी पर मंगेतर को बंधक बनाकर लकड़ी काटने आए तीन युवकों ने युवती के साथ शनिवार की दोपहर सामूहिक दुष्‍कर्म किया। घटना को अंजाम तब दिया गया जब युवती मंगेतर के साथ मोटकी पहाड़ी स्थित हनुमान मंदिर से दर्शन पूजन कर जंगली रास्ते से वापस घर लौट रही थी। पुलिस ने तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।  

बभनी थाना क्षेत्र के एक गांव की युवती शनिवार को अपने मंगेतर के साथ धरतीडाड़ गांव के मोटकी पहाड़ी पर स्थित हनुमान मंदिर में दर्शन पूजन करने आई थी। पूजन के बाद दोनों मंदिर से नीचे जंगली रास्ते से आ रहे थे, तभी कुल्हाड़ी से लैस तीन युवक मौके पर पहुंच गए। युवती के मंगेतर को कुल्हाड़ी के बल पर धमकाकर बंधक बना लिया और युवती को कुछ दूर झाड़ियों में खींच ले गए। जान से मार देने की धमकी देकर तीनों युवकों ने युवती के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म की घटना को अंजाम दिया और फरार हो गए।

युवती के पिता ने पुलिस को रविवार की सुबह तहरीर देकर बताया कि उसकी बेटी की शादी जिस व्यक्ति से लगी है वह उसी के साथ हनुमान मंदिर दर्शन पूजन करने गई थी। जहां लकड़ी लेने आए तीन लोगों ने सामूहिक दुष्‍कर्म किया। घटना की जानकारी मिलते ही बीजपुर के थाना प्रभारी देवतानंद सिंह ने घटना की जानकारी उच्चाधिकारियों को देने के बाद घटना स्थल पर पहुंचे। गोपनीय जानकारी करने के बाद पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले तीनों युवकों की पहचान कर ली। युवती के पिता की तहरीर पर पुलिस ने धारा 376 डी, 506 व एससीएसटी का मामला दर्ज कर लिया।

इस मामले में पुलिस ने बभनी थाना क्षेत्र के झापर गांव निवासी श्यामलाल पुत्र रामकुंवर पनिका, मुन्नीलाल पनिका पुत्र रामभजन पनिका और बीजपुर थाना के धरतीडाड़ गांव निवासी अंगद केवट पुत्र रामगणेश केवट को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस अधीक्षक अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने रविवार को घटना स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि तीनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले की विवेचना दुद्धी सर्किल के क्षेत्राधिकारी रामाआशीष यादव को सौंपी गई है।