गाजीपुर, जेएनएन। थाना क्षेत्र के भुजहुआ गांव में पति-पत्नी के बीच सात जन्मों का रिश्ता सातवें दिन ही टूट गया। प्रेमी के साथ रहने के लिए नवविवाहिता ममता गोस्वामी अपने पति पीयूष गिरी को गुरुवार की रात दूध में जहर देकर उसकी जान लेेने की कोशिश की। हालांकि वह रंगे हाथ पकड़ी गयी। मामला खुलने के बाद दोनों पक्ष थाने पहुंचे, जहां पंचायत चल रही है।

भुजहुआ निवासी दया गिरी अपने इकलौते पुत्र पीयूष उर्फ निक्की की शादी बड़े धूमधाम से पिछले 15 मई को केराकत कोतवाली के मतिहारी गांव के पप्पू गोस्वामी की पुत्री ममता से की। वह खुशी-खुशी नई-नवेली बहु को विदा कर घर लेकर आये। पूरा परिवार नयी-नवेली बहु के आवभगत में लगा रहा और बहू का ध्यान अपने प्रेमी में लगा रहा। गुरुवार की रात आठ बजे ममता शौच के बहाने घर से बाहर निकली और अपने प्रेमी राजन के साथ मिलकर पति को मारने का खतरनाक प्लान बनाया। बकौल ममता.. प्रेमी ने उसे सल्फास दिया और कहा कि इसे वह अपने पति को खिला दे, उसके मरने के बाद हम दोनों भाग जाएंगे। इस दौरान ममता ने अपना सारा गहना प्रेमी के सुपुर्द कर दिया। रात दस बजे वह अपने पति के दूध में सल्फास मिला रही थी, तब तक पति की निगाह अचानक सल्फास की डिबिया पर पड़ी तो चौंक उठा। मध्य रात्रि नवविवाहित जोड़े के कमरे मे मचे कोलाहल से घरवाले भी उठ गए। मामला प्रेम प्रसंग का जान कर ममता को उसी रात घर से बाहर निकाल उसके मायके वालों को सूचना दी। शुक्रवार की सुबह यह मामला ग्राम प्रधान गुड्डू यादव के माध्यम से खानपुर थाने पहुंचा। दोनों पक्षों के बीच चले पंचायत में ममता को अपने साथ रखने के लिए दोनों ही परिवार राजी नहीं हुए। शनिवार को नव विवाहित जोड़े के साथ ममता के प्रेमी सहित उसके परिवार को भी थाने बुलाया गया। थाने में प्रेमी जोड़ा एक-दूसरे के साथ रहने पर अड़ा रहा। लंबी पंचायत के बाद चार साल पुराने प्रेमप्रसंग में दोनों बालिग प्रेमियों की शादी कराने के फैसले पर विचार किया गया। खानपुर थानाध्यक्ष जितेंद्र दुबे ने कहा कि दोनों बालिग यदि एक दूसरे के साथ रहना चाहते हैं तो सर्वसम्मति से उन्हें विवाह करने दिया जाएगा।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Vandana Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस