वाराणसी : जनपद में ही नहीं पूरे मंडल में बड़ी संख्या गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय संचालित हो रहे हैं। वहीं मान्यता प्राप्त विद्यालयों की सूची ऑनलाइन न होने के कारण मान्य व अमान्य विद्यालयों को लेकर भ्रम की स्थिति बनी हुई है। जानकारी के अभाव में तमाम अभिभावक अपने बच्चों का अमान्य विद्यालयों में दाखिला करा दे रहे हैं। इसे देखते हुए अब मान्यता प्राप्त विद्यालयों की सूची एनआइसी की वेबसाइट पर अपलोड करने का निर्णय लिया है ताकि फर्जीवाड़े का खेल रोका जा सके।

दूसरी ओर जूनियर हाईस्कूल की मान्यता लेकर कुछ विद्यालय हाईस्कूल व इंटरमीडिएट तक कक्षाएं संचालित कर रहे हैं। अमान्य विद्यालय अपने बच्चों को मान्यता प्राप्त विद्यालय से परीक्षा फार्म भरवा रहे हैं। अटैचमेंट के खेल को वाराणसी मंडल के संयुक्त शिक्षा निदेशक (जेडी) अजय कुमार द्विवेदी ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने ऐसे विद्यालयों के खिलाफ अभियान चलाने के लिए मंडल के वाराणसी, गाजीपुर, जौनपुर व चंदौली के डीआइओएस को एक पत्र भी लिखा है। इसमें कहा गया है कि नए सत्र में प्रवेश परीक्षा प्रारंभ है। वहीं गैर मान्यता प्राप्त विद्यालय अब भी संचालित हो रहे हैं। इन विद्यालयों में अवैध रूप से शुल्क वसूली भी की जाती है। ऐसे में अमान्य विद्यालयों को सख्ती से बंद कराना आवश्यक है। उन्होंने चारों जनपदों के डीआइओएस से अवैध व अमान्य विद्यालयों व कोचिंग संस्थाओं को चिन्हित कर वैधानिक कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इसकी प्रति उन्होंने मंडलायुक्त, चारों जनपदों के डीएम, एडी-बेसिक व बीएसए को भी प्रेषित किया है। इससे फर्जीवाड़ा पर लगाम लगाने में मदद मिलेगी। गैर मान्यता प्राप्त स्कूलों को बंद करने का रास्ता साफ होगा।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप