चंदौली, जेएनएन। नौगढ़ थाना क्षेत्र के बाघी गांव में पुराने तहसील परिसर की जर्जर दीवार शुक्रवार को गिर गई। इसमें दबने से गांव के किला रोड निवासी बिलासा (40) की मौत हो गई। महिला दीवार के पास लगे हैंडपंप पर पानी भरने के लिए गई थी। घटना के बाद कोहराम मच गया। घटनास्थल पर लोग इकट्ठा हो गए।

किला रोड निवासी डंगर मद्धेशिया की पत्नी बिलासा शुक्रवार की सुबह पानी भरने के लिए तहसील के पास लगे हैंडपंप/प्याऊ पर गई थी। इसी दौरान जर्जर दीवार अचानक भरभराकर गिर गई। महिला दीवार के मलबे के नीचे दब गई। दीवार गिरने की आवाज सुनकर लोग मौके पर पहुंचे। लोगों ने ईंट व मलबा हटाकर महिला को बाहर निकाला और उसे निजी वाहन से लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। यहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

तहसीलदार लालता प्रसाद ने स्वजनों को ढांढस बंधाया और हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया। घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। लोगों का कहना है कि जर्जर दीवार से हर वक्त हादसे की आशंका बनी रहती थी। प्रशासन को कई बार प्रार्थना पत्र देकर दीवार को हटाने के लिए गुहार लगाई गई, लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया। घटना के पीछे प्रशासन की लापरवाही जिम्मेदार है। मृतका को दो पुत्र और दो पुत्रियां हैं। पुत्री गुड़िया (23) की शादी हो चुकी है। खुशबू (17), विकास (19), सूरज (14) मां की मौत से सदमे में हैं। उनका रो-रोकर बुरा हाल है।

किला रोड पर आधा दर्जन जर्जर भवन दुर्घटना को दे रहे दावत : बाघी गांव स्थित किला रोड पर आधा दर्जन जर्जर मकान हैं। इनके कभी भी धराशाई होने का खतरा बना हुआ है। इन भवनों के आसपास बच्चे खेलते रहते हैं। तहसीलदार लालता प्रसाद ने चौकी इंचार्ज राधा कृष्ण यादव को निर्देश दिया कि किला रोड पर जर्जर भवनों के मालिकों से संपर्क कर इन्हें धराशाई कराएं, ताकि भविष्य में इस तरह की घटना दोबारा न होने पाए।

Edited By: Abhishek Sharma