सोनभद्र, जेएनएन। सर्दियों में रेलवे मौसम की मार से त्रस्‍त है तो दूसरी ओर शुक्रवार की शाम को सोनभद्र जिले में रेल दुर्घटना ने विभाग को बड़ी चुनौती दी है। शुक्रवार की देर शाम करीब पांच बजे शक्तिनगर से चलकर बरेली को जाने वाली त्रिवेणी एक्सप्रेस (15075 डाउन) करैला रेलवे स्टेशन से आगे बढी ही थी कि मिर्चाधुरी आउटर सिगनल पर इंजन के दो पहिये ट्रैक से नीचे उतर गये। इसके बाद महकमे में हड़कंप मच गया और आनन फानन अधिकारियों की टीम मौके की ओर रवाना हो गई।

शुक्रवार की शाम को हुई रेल दुर्घटना की जानकारी होते ही रेल महकमे मे हड़कंप मच गया। हालांकि इस रेल दुर्घटना में किसी भी प्रकार की जानमाल की कोई छति नहीं हुई है। थोड़ी ही देर में जानकारी होते ही चोपन रेलवे स्टेशन से दुर्घटना राहत ट्रेन दुर्घटना स्थल के लिए रवाना करने की तैयारी शुरू हो गई। वहीं इस बाबत रेल स्टेशन प्रबंधक जेएम मिश्रा ने बताया कि मौके के लिए दुर्घटना राहत ट्रेन को रवाना कर दिया गया है। बताया कि रेल इंजन के दो पहिए पटरी से उतर गये हैं। इसे ठीक कर रूट पर जल्‍द ही रेल यातायात बहाल करने के लिए अधिकारियों की पूरी टीम मौके पर रवाना हो गई। 

स्‍थानीय रेलवे सूत्रों के अनुसार हादसा शाम 16.55 बजे होने के बाद 17.35 बजे चोपन से दुर्घटना राहत ट्रेन रवाना हुई जो थोड़ी देर बाद दुर्घटनास्‍थल मिर्चाधुरी पहुंच गया। रेलवे अधिकारियों के अनुसार ट्रेन के इंजन का केवल एक ही पहिया उतरा है। बताया कि निर्माण गुणवत्ता में कमी की वजह से यह दुर्घटना हुई है। यात्रियों के अनुसार ट्रेन की गति कम होने की वजह से कोई असर नहीं हुआ मगर इंजन बेपटरी होने के बाद रेल यात्रियों में हड़कंप की स्थिति काफी देर तक रही। वहीं रूट पर दूसरी अन्‍य ट्रेनों के संचालन को लेकर रेल महकमा तैयारी में जुट गया है। 

Posted By: Abhishek Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस