वाराणसी, जेएनएन। परिषदीय प्राथमिक विद्यालयों में 69000 शिक्षक भर्ती के लिए आवेदन की प्रक्रिया जारी है। चौथे दिन शुक्रवार को सुबह से ही सर्वर ठीक चल रहा है। ऐसे में ऑनलाइन आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की संख्या तेजी से बढ़ी है। वहीं कुछ अभ्यर्थियों ने किन्हीं कारणवश अपना मोबाइल नंबर बदल दिया है। उनकी नियुक्ति फिलहाल फंस गई है। कारण मोबाइल नंबर पर ही ओटीपी आना है। अब ऐसे अभ्यर्थी परेशान हैं। इसके लिए तमाम अभ्यर्थी हेल्प लाइन के जरिए प्रयागराज तक का दरवाजा खटखटा चुके हैं। फिलहाल उन्हें अब तक कोई राहत नहीं मिली है। ऐसे उन्हेंं हाथ से नौकरी जाने का भय सता रहा है ।

चंदुआ हबीबपुरा निवासी अभय कुमार सोनकर ने बताया कि दो साल पहले अपने भाई के मोबाइल फोन से ऑनलाइन फार्म भरा था। ऐसे में भाई का ही मोबाइल नंबर फार्म में भी दे दिया था। वहीं मोबाइल गुम होने के कारण भाई ने नंबर ही बंद करा दिया। निजी मोबाइल कंपनी ने यह नंबर दूसरे उपभोक्ता को आवंटित कर दिया है। वहीं संबंधित उपभोक्ता का 18 मई से ही स्वीच ऑफ बता रहा है। इस संबंध में हेल्प लाइन नंबर से बात भी की। उधर से कोई ठोस आश्वासन नहीं मिला।

यह तो एक बानगी है। ऐसे सैकड़ों अभ्यर्थी परेशान हैं। लिखित परीक्षा पास करने वाले अभ्यर्थियों का कहना है कि आवेदन करने के लिए 26 मई तक मौका है। यदि मोबाइल नंबर संशोधित नहीं किया गया तो सामने आने से पहले ही नौकरी छिन जाना तय है। इसी प्रकार प्राप्तांक व पूर्णांक गलत भरने वाले अभ्यर्थी परेशान हैं। इस बार आवेदकों को संशोधन का मौका नहीं दिया जा रहा है।

Posted By: Saurabh Chakravarty

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस