चंदौली, जागरण संवाददाता। राजेंद्र नगर से नई दिल्ली जा रही 02309 तेजस राजधानी एक्सप्रेस के कोच नम्बर ए-5 पर बिहार के बक्सर में उपद्रवी तत्वों ने पथराव कर दिया। इससे बर्थ संख्‍या 41 का शीशा क्षतिग्रस्त हो गया। संयोग अच्छा था कि किसी यात्री को चोट नहीं लगी। घटना से यात्री दहशत में नजर आए। ट्रेन के डीडीयू जंक्शन पहुंचने पर रेलवे सुरक्षाकर्मियों की टीम ने बोगी का निरीक्षण किया। साथ ही बर्थ पर बैठे यात्री की कुशलता जानी।

राजेंद्र नगर से नई दिल्ली जा रही 02309 अप तेजस राजधानी एक्सप्रेस पर बक्सर के समीप अवांछनीय तत्वों ने पथराव शुरू कर दिया। इससे कोच संख्या ए-5 के बर्थ संख्या 41 के शीशे की एक परत टूट गई। हालांकि, बर्थ पर बैठे यात्री को किसी प्रकार की चोट नहीं आई। पीडीडीयू जंक्शन पहुंचने पर बर्थ 41 पर बैठे यात्री ने बताया कि उसका बर्थ 38 है। हालांकि, उसने बर्थ 41 को खाली देखा तो उस पर बैठ गया। बताया कि ट्रेन बक्सर स्टेशन के आसपास थी, तभी पथराव हुआ। इससे बर्थ संख्या 41 का शीशा टूट गया। पीडीडीयू जंक्शन पहुंचने के बाद ट्रेन के शीशे की मरम्मत कराई गई। इसके बाद ट्रेन गंतव्य के लिए रवाना हो सकी।

बोगी में मौजूद यात्रियों ने कहा कि घटना को लेकर यात्री सहमे नजर आए। ट्रेनों की सुरक्षा के रेलवे के दावे ऐसी घटनाओं के बाद हवा-हवाई साबित होते हैैं। इससे यात्रियों का भरोसा उठ रहा है। यह कोई पहला वाकया नहीं, बल्कि अक्सर इस तरह की घटनाएं होती हैं। इससे यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ती है। कई बार पत्थरबाजी में यात्री घायल भी हो जाते हैं। रेलवे को ट्रेनों के साथ ही संवेदनशील स्थानों पर सुरक्षा बढ़ानी होगी, तभी ऐसी वारदातें रुकेंगी। इस तरह की घटनाओं को अंजाम देने वाले उपद्रवी तत्वों को चिह्नित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

वरीय मंडल सुरक्षा आयुक्त आशीष मिश्रा ने बताया कि जंक्शन पर ट्रेन के पहुंचने पर सुरक्षा अधिकारियों ने यात्रियों को अटेंड किया। किसी भी यात्री को कोई दिक्कत नहीं है। बोगी का बाहरी शीशा टूटा है। अंदर का बिल्कुल सुरक्षित है। इस पूरे जांच को सम्बंधित मंडल को ट्रांसफर कर दिया गया है।

Edited By: Abhishek Sharma