वाराणसी [मुकेश चंद्र श्रीवास्तव]। उप्र पावर कारपोरेशन पूरे सूबे में बिजली व्यवस्था को बेहतर करने में जुटा है। खासकर पीएम व सीएम के शहर क्रमश: वाराणसी व गोरखपुर और आर्थिक शहर नोएडा का खास ख्याल रखा जा रहा है। ऐसी व्यवस्था की जा रही है कि बिजली कटौती की यहां कोई समस्या न रहे। इसके लिए उपकेंद्रों को डबल लाइन से जोड़ा जाएगा। किसी कालोनी या क्षेत्र की लाइन गड़बड़ होने पर फीडर बंद किए बिना उसे दुरुस्त किया जा सकेगा। तीन अक्टूबर को जारी पत्र में कारपोरेशन की प्रबंध निदेशक अपर्णा यू ने इन जिलों के नोडल अधिकारियों से पूरी रिपोर्ट मांगी हैं।  

400 ट्रांसफार्मरों पर लगेंगे टीपीएमओ स्वीच 

काशी शहर में करीब 400 ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं। इन सभी पर टीपीएमओ (ट्रिपल पोल मैन्यूअली आपरेटेड) स्वीच सेट लगाए जाएंगे। इसके लगने के बाद अगर किसी कालोनी की लाइन खराब होती है तो पूरे फीडर को बंद नहीं करना पड़ेगा। इसी स्वीच के माध्यम से सिर्फ संबंधित गली की ही एलटी लाइन सर्किट से ट्रिप हो जाएगी। इसके लिए कर्मचारी को ट्रांसफार्मर चढऩे की भी जरूरत नहीं होगी। लाइन मैन सर्किट से लाइन काटकर खराब लाइन को बना देगा। 

डबल सोर्स से जुड़ेंगे सभी उपकेंद्र व फीडर 

बनारस, गोरखपुर और नोएडा में निर्बाध विद्युत आपूर्ति जारी रहे इसके लिए सभी उपकेंद्रों एवं फीडरों को डबल सोर्स से जोडऩे का निर्देश दिया गया है। या पहले से जिन उपकेंद्रों में डबल सोर्स हो उसको पूरी तरह दुरुस्त करने को कहा गया है। 

काशी में बिजली घर एवं फीडर   

21  बिजली घर प्रथम मंडल में        

22 बिजली घर द्वितीय मंडल में     

116 फीडर प्रथम मंडल में           

101 फीडर द्वितीय मंडल में 

बोले अधिकारी : एमडी के निर्देश के बाद निर्बाध बिजली आपूर्ति के लिए प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। इसके तहत सभी उपकेंद्रों, फीडरों को डबल सोर्स से जोडऩे के साथ ही ट्रांसफार्मरों पर टीपीएमओ स्वीच लगाए जाएंगे। शहर में 33 केवी की 11 और 11 केवी की 12 लाइनों को बदला जा रहा है। इसी माह मंत्री का भी दौरा है। उनके समक्ष 21 बिंदुओं पर रिपोर्ट प्रस्तुत की जानी है। - मनोज कुमार अग्रवाल, मुख्य अभियंता (वितरण), वाराणसी जोन।

 

Posted By: Abhishek Sharma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप