चंदौली, जेएनएन । विज्ञान और चमत्‍कार की बातें और आस्‍था सभी चर्चा का विषय सदियों से रहे हैं। इसे महज एक संयोग कह सकते हैं, लेकिन जनता शिव मंदिर को बचाने की दिशा में चंदौली जिले में सर्प की जिद समझ रही है। सर्प शिव मंदिर परिसर में डेरा जमाए, किसी को मंदिर में घुसने नहीं दे रहा। दरअसल, रेलवे के फ्रेट कॉरिडोर की रोड़ा बने शिव मंदिर को कहीं अन्यत्र हटाने की कवायद चल रही है। सर्प कई दिनों से मंदिर में ही डेरा जमाए बैठा है, इससे उसकी कथित जिद समझ उसे देखने को लोगों को भीड़ उमड़ रही है।

यूं तो सर्प का शिव मंदिर से रिश्ता पुराना बताया जाता है। इलाकाई लोगों के मुताबिक सर्प शिव मंदिर में रोजाना ही एक-दो बार आता रहता था। मंदिर में पूजा पाठ करने पहुंचे लोग उसे सैकड़ों बार देखने की बात भी स्वीकारते हैं। दो दिनों से सर्प ने मंदिर में अड़ी जमा ली है, किसी को घुसने ही नहीं दे रहा। इलाकाई लोगों ने बताया कि फ्रेट कारिडोर बिछाने की राह में शिव मंदिर पड़ रहा है। जिम्मेदार अधिकारी मंदिर को अन्यत्र हटाने की कवायद में जुट गए हैं। मंदिर के इर्दगिर्द झाड़ियां साफ भी की जाने लगी हैं। उसके बाद ही से सर्प ने शिव मंदिर को आशियाना बनाया है।

मंदिर परिसर में इधर-उधर घूमने के बाद शिव लिंग पर कुंडली मारकर बैठ जाता है। उसे देखने के लिए रोजाना लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। ग्रामीणों के मुताबिक उसे लोगों ने कुछ खाने के लिए दिया लेकिन उसने मुंह फेर लिया। सवैया के ग्राम प्रधान आशीष सिंह की माने तो मंदिर के पुरातन वट वृक्ष की वर्षो पूर्व कटाई करने पहुंचे एक मजदूर की मौत चुकी है। दूसरे कई लोग प्रयास में पेड़ से गिरकर घायल हो चुके हैं। सवैया गांव के ही विजय प्रजापति ने बताया कि इस पर काफी समय से यह सर्प और उसका कुनबा निवास करता है।

Posted By: Abhishek Sharma