जागरण संवाददाता, भदोही। औराई पुलिस और क्राइम ब्रांच की संयुक्त टीम शनिवार को देर शाम विक्रमपुर स्कूल के पास से अंतरप्रांतीय गांजा तस्करी गिरोह के सरगना सहित सात को गिरफ्तार कर लिया गया। साथ ही तीन लग्जरी कार और 16 किला गांजा के अलावा 80,608 रुपये बरामद किया गया है। आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया। एसपी ने टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की। पुलिस लाइन में रविवार को पत्रकारों से बातचीत में एसपी रामबदन सिंह ने बताया कि नौ सितंबर को बिहार प्रांत के बलिहार गांव निवासी प्रशांत सिंह ने पुलिस को सूचना दी थी कि वह अपने दोस्त के साथ हंडिया जा रहा था लेकिन घाटमपुर के पास चार बदमाशों ने तमंचा लगाकर कार लूट लिया।

क्राइम ब्रांच के प्रभारी विनोद दुबे और औराई पुलिस को जांच सौंपी गई। इलेक्ट्रानिक जांच में पाया गया कि गांजा तस्करों ने लूट की कथित कहानी बनाई थी। कड़ाई से पूछताछ करने के बाद ही प्रशांत सिंह ने पुलिस को बताया कि गांव के अंकित कुमार सिंह प्रयागराज और कौशांबी में गांजा की तस्करी करता है। अंकित सिंह निवासी सिमरी बिहारी, देवेंद्र सिंह ऊर्फ छोटू निवासी कौशांबी, इरशाद अली खान निवासी सिविल लाइंस प्रयागराज, दिग्विजय सिंह निवासी हंडिया, पंकज कुमार दुबे सरायइनायत प्रयागराज और शनि सिंह ऊर्फ आदित्य सिंह निवासी बक्सर बिहार दोस्त हैं। देवेंद्र सिंह ने उसकी कार को लेकर कहीं चला गया था। वह फंसे न इसलिए झूठी शिकायत दर्ज कराई थी। एसपीे रामबदन सिंह ने बताया कि जांच में पाया गया कि आरोपित बड़े पैमाने पर गांजा की तस्करी करते हैं।

आरोपित प्रशांत सिंह, कुमार ऊर्फ गोलू, दिग्विजय सिंह, इरशाद अली खां, देवेंद्र सिंह, पंकज दुबे और शनि सिंहं को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। टीम में सर्वेश राय, तुफैल अहमद, नागेंद्र यादव, दीपक यादव, नीरज यादव, सुनील कनौजिया और निरीक्षक सदानंद सिंह शामिल रहे।

 

Edited By: Saurabh Chakravarty