मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

 सोनभद्र,जेएनएन। घोरावल कोतवाली क्षेत्र के उभ्भा गांव में हुए नरसंहार के मामले में बड़ी कार्रवाई के बाद गठित विशेष जांच दल (एसआइटी) ने बुधवार को गांव में पहुंचकर स्थिति की जानकारी ली और घटनास्थल को देखा। टीम के सदस्यों ने गांव के लोगों, घटना में मारे गए लोगों के परिजनों व घायलों से मिलकर घटना के बारे में विस्तार से जानकारी ली। टीम ने ग्रामीणों से कुछ जरूरी पत्रावली भी लिया। साथ ही मुकदमों आदि के बारे में पूछताछ की। करीब डेढ़ घंटे में टीम ने एक-एक बिंदु पर पड़ताल की।

डीआइजी जे रवींद्र गौड़ के नेतृत्व में गठित टीम में शामिल नौ लोग बुधवार को दोपहर गांव में पहुंचे। सबसे पहले गांव के लोगों से मिलकर 17 जुलाई की घटना के बारे में पूछा। इसके बाद मृतकों के परिजनों से मिले। घायलों से मिलकर घटना के समय का माहौल पूछा। इसके बाद टीम पहुंची घटनास्थल के पास। वहां जमीन को देखने के साथ गांव के कैलाश को बुलाकर उनसे पूछताछ किया। उनकी जमीन के बारे में, खाता नंबर के बारे में और कब से जोत-कोड़ कर रहे हैं इसके बारे में विस्तार से पूछा। इसके बाद गांव के रामराज से कुछ जरूरी कागजात लिये। जिसमें उन्होंने आरटीआइ के माध्यम से सूचना जुटाई थी। 1989 में जमीन व्यक्तिगत हाथों में जाने व 1952 में पट्टा आदि के बारे में जानकारी ली। पुलिस ने ग्रामीणों पर कब-कब, किन-किन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया, उन्होंने क्या किया इसके बारे में भी पूछा। बता दें कि टीम पूरे मामले की जांच करके दो महीने में शासन को अपनी रिपोर्ट देगी।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Saurabh Chakravarty

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप