मीरजापुर, जागरण संवाददाता। उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि गऊ- गंगा, गौरी -शंकर हमारी संकल्पना है। मां गंगा की गोद में जो बीजारोपण हो रहा है। यह विशाल वटवृक्ष के रूप में आने वाली पीढ़ी को छाया, दिशा, संस्कार के साथ संस्कृति को जानने व समझने एवं गऊ माता कितनी उपयोगी है, यह बताने का काम करेगा। गोबर हो, गो-मूत्र हो, दुग्ध हो अथवा गऊ माता से उपलब्ध हर वह सामग्री जो हम सभी श्रद्धाभाव से ग्रहण करते हैं। उसका यहां से संस्कार व शिक्षा मिलेगी। यही नहीं, गऊ सेवा की भी प्रेरणा मिलेगी।

गऊ-गंगा के आर्थिक समृद्धि के रूप में शिव-शक्ति की परिकल्पना साकार करने के लिए काशी-प्रयाग के बीच विंध्य धरा पर मां गंगा की गोद में गौरीशंकर की 108 फीट ऊंची प्रतिमा स्थापित की जाएगी। इससे विंध्य धरा पर मां गंगा की गोद में एक ही जगह गऊ-गंगा और गौरी शंकर का दर्शन सुलभ होगा। गाय का पालन पोषण हम नहीं बल्कि गाय हमारा पालन पोषण करेगी। यह गऊ-गंगा का मूल मंत्र है। ओएस बालकुंदन फाउंडेशन की ओर से कछवां के गड़ौली गांव में शारदीय नवरात्र के नवमी तिथि पर दुर्गा सप्तशती का पाठ कराया गया। उप मुख्यमंत्री ने हवन-पूजन कर महायज्ञ का समापन किया। इसके बाद उन्होंने विंध्यधाम पहुंचकर मां विंध्यवासिनी का दर्शन-पूजन किया।

गंगा पर निर्माण होने वाले फोरलेन पुल की प्रकिया करें तेज : डिप्टी सीएम एवं पीडब्ल्यूडी मंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने जनपद भ्रमण के दौरान लोक निर्माण विभाग व सेतु निगम से ससमय से कार्य करने का निर्देश दिया । उन्होंने कहा कि जो भी कार्य लंबित है उसमें तेजी लाएं ।बजट की कमी हो रही हो तो उसके बारे में उनको अवगत कराएं वह बजट जारी कराने का प्रयास करेंगे।

सेतु निगम के अधिशासी अभियंता ने बताया कि जनपद में दो आरोबी गैपुरा और शिवपुर में बन रहा है ।दोनों कार्य तेजी से कराए जा रहे हैं जिससे समय से पूरा हो सके। तीसरा फोरलेन पुल गंगा पर बनना है उस का प्रस्ताव बनाकर के शासन को भेज दिया गया है। यही सबसे बड़ा काम बचा हुआ है ।इस पर उन्होंने कहा कि निश्चित रूप से इस पर ध्यान दिया जाएगा और चुनाव से पहले कोई निर्णय ले लिया जाएगा, जिससे सेतु का निर्माण हो सके। अधिशासी अभियंता आर एस उपाध्याय ने बताया कि करीब 900 करोड़ की लागत से गंगा पर फोरलेन पुल का निर्माण होगा जो ओझला पुल के पास से मवैया इंटर कॉलेज के पास निकलेगा। इस दौरान उन्होंने अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग मिथिलेश कुमार को जर्जर सड़कों को जल्द से जल्द मरम्मत कराने का निर्देश दिया ।कहा कि जो भी सड़कें मरम्मत होनी है उसका टेंडर प्रक्रिया पूरा करा कर कार्य प्रारंभ कर दें ताकि अधिसूचना जारी होने से पहले इनका निर्माण हो सके।

Edited By: Abhishek Sharma