वाराणसी, जेएनएन। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सामान की दुकानों को निर्धारित समय तक खोल कर जरूरी सामान बिक्री की छूट दी गई है। इसमें घबराहट में लोग मनमानी खरीदारी कर रहे तो दुकानदार मनमानी कीमतें वसूल कर मौके का लाभ उठाने में लगे हैं। स्थिति यह कि 95 रुपये में बिकने वाला रिफाइंड 120 तो चीनी 45 रुपये तक बेची गई। इस तरह की शिकायतों के बाद भी सुनवाई नहीं हो रही है। रविवार को लॉकडाउन का छठा दिन था। इस दौरान देखा जाए पूरे जिले में अधिक मूल्य की वसूली से संबंधित कोई कार्रवाई नहीं की गई। जनपद में रामनगर, चौबेपुर, पिंडरा, सेवापुरी, जंसा, दानगंज, मिर्जामुराद आदि ग्रामीण बाजारों से लेकर शहर में वरुणापार से लेकर विश्वेश्वरगंज, लंका, महमूरगंज में बाजारों में अधिक मूल्य लेने वाले के खिलाफ किसी थाने में कोई कार्रवाई नहीं हुई। पिंडरा में एसडीएम से लोगों ने अधिक दाम पर दाल, आटा, तेल, चीनी आदि बेचने की शिकायत की। एसडीएम पहुंचे तो लेकिन हिदायत देकर छोड़ दिया। एसीएम चतुर्थ शुभांगी शुक्ला ने जरूर एक नाई की दुकान बंद कराई। हालत यह है कि दुकानों की जांच के लिए नामित अधिकारी कोई कार्रवाई नहीं किए। यह हाल रविवार का ही नहीं शनिवार को भी रहा और कालाबाजारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई। कुछ जगह डायल 112 की पुलिस पहुंची जरूर लेकिन दुकानदारों को हिदायत देकर आगे निकल लिए। इतना ही नहीं लोगों ने सामान न मिलने पर मठ-मंदिरों से गुहार लगाई। प्रवर्तन टीम ने जरूरी निरीक्षण कर 36 दुकानों को जरूर हिदायत दी। यही हाल घर में न रह कर सड़क पर घूमने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई नहीं हुई। कार्रवाई न होने का कारण शिथिलता माना जा रहा है। इसके पीछे राजनीतिक दबाव कारण माना जा रहा है। रेट लिस्ट तक का पता नहीं कल ही आदेश दिया गया था कि सभी दुकानदार वस्तुओं की कीमत और स्टाक के विषय में दुकान के बाहर लिस्ट लगाएंगे। इसके बावजूद चाहे होलसेल हों या फिर फुटकर दुकान कहीं भी देखने को नहीं मिला। कहीं बोर्ड था भी तो पूरा खाली। ई-रिक्शा से बिकेगी सब्जी पहड़िया मंडी ने लोगों को ई-रिक्शा के माध्यम से लोगों को सब्जी बेचने का निर्णय लिया है। नगर निगम ने उन्हें 10 रिक्शा दिया है। ये निर्धारित मूल्य पर आलू, टमाटर, प्याज, लहसुन और हरि सब्जियां अलग-अलग क्षेत्र में जाकर सामाजिक संगठन के लोगों के साथ बेचेंगे। वर्जन--- आवश्यक वस्तुओं की बिक्री अधिक मूल्य पर अथवा कालाबाजारी करने वालों को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जाएगा। शिकायत करने वाले करें शिकायत। लोगों का नाम और पता गुप्त रखा जाएगा। कौशल राज शर्मा, जिलाधिकारी, वाराणसी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस