गाजीपुर, जेएनएन। प्रगतिशील समाजवादी पार्टी लोहिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल ङ्क्षसह यादव ने राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय से सहमति जताई। कहा कि इससे बड़ा कोई न्यायालय नहीं है। सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का सम्मान करना चाहिए। लगे हाथ उन्होंने भाजपा की केंद्र और राज्य सरकारों पर भी जमकर निशाना साधा। आरोप लगाया कि इस सरकार में छात्र, नौजवान, व्यापारी व किसान सभी वर्ग के लोग परेशान हैं। वह रविवार को देवरिया जाते समय कुछ देर के लिए प्रभु नारायण सिंह महाविद्यालय कासिमाबाद में रुककर कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित किए।  

 शिवपाल यादव ने चुटकी ली कि सबसे ज्यादा व्यापारियों ने भाजपा को वोट दिया था आज वही सर्वाधिक बेहाल है। आरोप लगाया कि जबसे देश में नोटबंदी व जीएसटी लागू किया गया तबसे देश आर्थिक संकट से जूझ रहा है। नौजवानों को रोजगार नहीं मिल रहा है। व्यापार खत्म होता जा रहा है, महंगाई व बेरोजगारी बढ़ती चली जा रही है। विकास का काम ठप है। ढाई साल में एक भी सड़क नहीं बनी ना ही कोई सड़क का चौड़ीकरण हुआ। किसी को नौकरी नहीं मिली। जो नौकरी कर रहे हैं वह भी निकाले जा रहे हैं। लोगों का विश्वास बैंकों पर से भी उठ गया है। दावा किया कि पंजाब नेशनल बैंक की 500 शाखाएं बंद हो गईं। आरोप मढ़ा कि थानों में बिना पैसे की रिपोर्ट नहीं लिखी जा रही है। आए दिन हत्या, लूट, बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं। कार्यकर्ताओं से आह्वान किया कि गांव-गांव जाकर पार्टी की नीतियों को जनता को अवगत कराएं। इसमें बृजभानु सिंह बघेल, बिजाधर यादव, मनोज यादव, रङ्क्षवद्र यादव, दिनेश सिंह, बीरबल चौहान, मिनहाज अंसारी, सत्यम शाही, हीरामणि चौहान, योगेंद्र प्रजापति, ओम प्रकाश यादव, बलिराम यादव, मुस्ताक अंसारी आदि थे। बैठक से पूर्व कार्यकर्ताओं ने शिवपाल ङ्क्षसह यादव का बौरी चट्टी व कासिमाबाद चौराहे पर स्वागत किया।

 

Posted By: Saurabh Chakravarty

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप