चंदौली [विवेक दुबे]। गुड्स ट्रेनों की रफ्तार कायम रखने व माल ढुलाई को बढ़ावा देने के लिए डीएफसीसी (डेडिकेटेड फ्रेट कारिडोर कारपोरेशन) पीडीडीयू मंडल में सात नए रेलवे स्टेशन का निर्माण करेगी। यह स्टेशन हाल्ट की तरह होंगे। इन पर मालगाडिय़ों का ठहराव होगा। चालक, सहचालक, गार्ड के ठहरने की व्यवस्था रहेगी। माल उतारना, लोड करना, ट्रेनों की निगरानी, सुरक्षा मानक आदि इन्हीं स्थानों के जरिए होगी। मुगलसराय, गंजख्वाजा, दुर्गावती, कुदरा, करवंदिया, सोननगर लिंक केबिल स्टेशन, चिरेलापाथुर स्टेशन के समीप न्यू स्टेशन इनका नाम रहेगा। 

डीएफसीसी का रेलव परिवहन पर विशेष जोर है। देशभर में व्यस्त रेल लाइनों पर मालगाडिय़ों के बजाए यात्री ट्रेनों को वरीयता दी जाती है। यही कारण है कि सामान की आपूर्ति को लेकर विलंब होता था लेकिन अब ऐसा  नहीं होगा। सात नए स्टेशन बनने से मालगाडिय़ों का ठहराव होगा। सड़क मार्ग से होने वाले माल ढुलाई को रेल मार्ग पर लाने का लक्ष्य बनाया गया है। 

20 से 30 किमी अंतर पर होगा ठहराव

पीडीडीयू नगर से सोननगर लिंक केबिल स्टेशन तक लगभग 137 किलोमीटर इस पर काम होगा। 20 से 30 किलोमीटर के अंतर पर एक नया स्टेशन बनाया जाएगा। गढ़वा स्टेशन डीएफसीसी का अंतिम छोर होगा। मालगाडिय़ों के आवागमन की भी समय सारिणी बनाई जाएगी ताकि आपूर्ति में सुधार करते हुए ढुलाई के लिए अधिक से अधिक माल का उठान किया जा सके।

पीडीडीयू नगर व करवंदिया से होगा उठान व लदान

डीएफसीसी के सात नए स्टेशनों में पीडीडीयू नगर व करवंदिया स्टेशन पर मालगाडिय़ों से सामानों की लोङ्क्षडग व अनलोडिंग होगी। निर्माण सामग्री से लेकर खाद्यान्न तक की आपूर्ति आसानी से होगी। स्थानीय लोगों को भी काम मिलेगा।

स्टेशन पर दिखेंगे स्थानीय इतिहास

डीएफसीसी बनने वाले न्यू स्टेशनों पर वहां के इतिहासों को प्रदर्शित किया जाएगा। स्टेशन की बिङ्क्षल्डग पर बारीकी से एक एक चीज को दर्शाया जाएगा ताकि लोग भी इतिहास जान सकें और स्थानीय इलाकों के महत्व का पता चल सके। संभावना है कि आने वाले कुछ महीनों में ही बदलाव देखने को मिलेगा।

बोले अधिकारी

मुगलसराय से सोननगर ङ्क्षलक केबिल स्टेशन तक सात नए रेलवे स्टेशन (हाल्ट) बनाए जाएंगे। मालगाडिय़ों का ठहराव होगा। मुगलसराय व करवंदिया में लोङ्क्षडग व अनलोडिंग की सुविधा होगी। - राजेश कुमार, डिप्टी प्रोजेक्ट मैनेजर, डीएफसीसी 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021