वाराणसी, जागरण संवाददाता। संतुष्टि हास्पिटल (सुंदरपुर) के सामने धरने पर बैठे बीएएमएस के छात्रों को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। यही नहीं कुछ अज्ञात लोगों ने साेमवार की भोर में तीन बजे कृष्णा कुमार नामक छात्र का मोबाइल फोन व पर्स छिन लिया। छात्रों ने इस संबंध में सुंदरपुर पुलिस चौकी इंचार्ज विनय तिवारी को तहरीर भी देने की कोशिश की लेकिन उन्होंने छात्रों की तहरीर लेने से इंकार कर दिया। ऐसे में संतुष्टि आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज के सत्र 2018-19 के बैच के छात्रों का आक्रोश दिन-दिनों बढ़ता जा रहा है लेकिन छात्र गांधीवादी तरीके से आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया है। छात्रों का बेमियादी धरना सोमवार को 12वें दिन भी जारी रहा।

छात्रों का कहना है कि मान्यता न होने के बावजूद कालेज प्रशासन ने छात्रों का बीएएमएस में दाखिला लिया है। कालेज प्रशासन ने छात्रों के साथ धोखाधड़ी की है। छात्र शुल्क वापसी व दूसरे मेडिकल से संबद्ध करने की मांग को लेकर अड़े हुए हैं। कहा कि रात में दो-तीन छात्र धरना स्थल पर रूक रहे हैं। अज्ञात लोगों को भेजकर उनसे धमकी दिलाई जा रही है। अब तो छिनैती पर लोग उतर आए हैं। कालेज प्रशासन डरा-धमका कर छात्रों का आंदोलन खत्म कराने में तूली हुई है। वहीं पुलिस प्रशासन ने भी आंदोलनरत छात्रों को सुरक्षा उपलब्ध कराने में हाथ खड़ा दी है। इसके बावजूद छात्रों ने मांगें पूरी होने तक आंदोलन जारी रखने का निर्णय लिया है।

कोर्ट के फैसला आने का इंतजार करना चाहिए

मान्यता के लिए प्रकिया चल रही है। वहीं यह प्रकरण कोर्ट में लंबित है। कई बार डेट मिली लेकिन किन्हीं न किन्हीं कारणों से सुनवाई अब तक नहीं हो सकी है। अगस्त में फिर डेट लगी है। ऐसे में जल्द ही राहत मिलने की संभावना है। उधर छात्र भी कोर्ट में गए हैं। ऐसे में उन्हें कोर्ट के फैसला आने का इंतजार करना चाहिए।

-डा. रितु गर्ग, डायरेक्टर, संतुष्टि आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज

Edited By: Saurabh Chakravarty